लू का कहर, पांच बच्चों समेत 11 लोग अस्पताल में भर्ती

खबर शेयर करें -



प्रदेश में दिन पर दिन पारा चढ़ने के कारण तापमान में बढ़ोतरी हो रही है। गर्मी के कारण लोगों का हाल बेहाल हो रहा है। लू के थपेड़े लोगों का जीना दुश्वार कर रहे हैं। रुड़की में लू का कहर देखने को मिला है। लू लगने के कारण पांच बच्चों समेत 11 लोगों को अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा है।


रुड़की में लू से लोगों का हाल बेहाल है। भारी संख्या में लोग लू की चपेट में आ रहे हैं और अस्पताल में पहुंच रहे हैं। बीती रोज पांच बच्चों समेत 11 लोगों को लू लगने के कारण सिविल अस्पताल रुड़की में भर्ती कराया गया है। इसके साथ ही ओपीडी में भी कई मरीज ऐसे आए हैं जिनमें लू लगने के लक्षण मिले हैं। उनको दवा देने के साथ ही विशेष सावधानी बरतने की डॉक्टरों ने सलाह दी है।

यह भी पढ़ें -  यूकेएसएसएससी पेपर लीक मामले में आरोपियों की जमानत मिलनी हुई शुरू

लू लगने से पांच बच्चों समेत 11 लोग अस्पताल में भर्ती
सिविल अस्पताल रुड़की के सीएमएस डॉक्टर संजय कंसल के मुताबिक बीती रोज तकरीबन चालीस से पचास बच्चे अस्पताल में चेकअप के लिए आए थे। जिनमें से दस बच्चों में लू के लक्षण मिले। जिसके बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती करने की सलाह दी गई थी। जिनमें से पांच बच्चों को परिजनों ने भर्ती कराया है।

यह भी पढ़ें -  उत्तराखंड के राशन कार्ड धारकों के लिए जरूरी खबर, केंद्र के नए नियम हुए लागू, ये काम करना हुआ बहुत जरूरी

लू चलने का जारी किया गया है अलर्ट
सीएमएस डॉक्टर संजय कंसल ने बताया कि इमरजेंसी में भी लू से प्रभावित बहुत से मरीज आ रहे हैं। जिन्हें भर्ती कर उपचार किया जा रहा है। इनमें से अधिकांश को उल्टी, पेट दर्द, दस्त, थकान, बुखार आदि की शिकायत है। आपको बता दें कि भीषण गर्मी और लू चलने के कारण अलर्ट जारी किया गया है।

यह भी पढ़ें -  मण्डलायुक्त ने थरकोट झील का निरीक्षण कर निर्माण कार्यों का जायजा लिया और कार्यों में तेजी लाने को कहा

डॉक्टर संजय कंसल ने कहा कि लू चलने के अलर्ट के बीच अस्पताल में भी सभी कर्मचारियों को निर्देशित किया गया है कि मरीजों को बेहतर उपचार दिया जाए। उन्होंने आमजन से अपील की है कि गर्मी के बढ़ते प्रकोप को लेकर आवश्यक काम न होने पर दोपहर के बाद शाम तक घरों से न निकले और पानी का सेवन ज्यादा करें जिससे लू से बचाव हो सके।

Advertisement