पर्यटकों एवं स्थानीय लोगों को सुगम आवागमन हेतु काठगोदाम-हनुमानगढी रोपवे का निर्माण जल्द ही प्रारम्भ होगा

खबर शेयर करें -

हल्द्वानी

पर्यटकों एवं स्थानीय लोगों को सुगम आवागमन हेतु काठगोदाम-हनुमानगढी रोपवे का निर्माण जल्द ही प्रारम्भ होगा। रोपवे निर्माण को लेकर जिलाधिकारी वंदना ने कैम्प कार्यालय हल्द्वानी में लोनिवि, निर्माणदायी संस्था व सम्बन्धित अधिकारियों के साथ बैठक कर निर्माण में आ रहीं अड़चनों को दूर किए जाने पर विस्तृत चर्चा की गई।
बैठक में जिलाधिकारी ने कहा कि निर्माणदायी संस्था के अधिकारियों द्वारा अवगत कराया कि विद्युत पोलों और एचटी लाइन को विस्थापित कराने की आवश्यकता है। जिस पर जिलाधिकारी ने उपजिलाधिकारी नैनीताल को निर्देश दिये कि पिटकुल, यूपीसीएल के साथ ही निर्माणदायी संस्था के अधिकारियों की एक सप्ताह के भीतर संयुक्त बैठक कर समाधान करने के निर्देश दिये।
जिलाधिकारी ने निमार्णदायी संस्था के अधिकारियों से कहा कि हनुमानगढी रोपवे स्टेशन तथा अन्य सभी स्टेशन लोकेशन पर भूमि का संयुक्त सर्वे करने के निर्देश दिये।

यह भी पढ़ें -  सड़क हादसे में एक की मौत, तीन घायल

काठगोदाम- हनुमानगढी रोपवे के मध्य रानीबाग, भुजियाघाट, नर्सरी व ज्योलिकोट रोपवे स्टेशन बनाये जायेंगे तथा काठगोदाम से हनुमानगढी तक कुल 67 टावर स्थापित किये जायेंगे। काठगोदाम रोपवे स्टेशन पर 500गाडियों की पार्किंग, के साथ ही 400 मीटर पैदल ब्रिज मार्ग रेलवे स्टेशन के लिए बनाया जायेगा ताकि यात्री सुगमता से रेलवे स्टेशन से रोपवे स्टेशन पैदल आ सकें। हनुमानगढी रोपवे स्टेशन से ई-बस सेवा की सुविधा उपलब्ध होगी। रोपवे को पब्लिक ट्रान्सपोर्ट की तरह इस्तेमाल किया जायेगा जिसका शुल्क कम से कम होगा।

*मानसखंड परियोजना में शामिल कुमाऊं क्षेत्र के प्रसिद्ध कैंचीधाम परिसर में मूलभूत सुविधाओं के विकास के साथ ही बहुमंजिला पार्किंग बनाने के सम्बन्ध में जिलाधिकारी वंदना ने कैम्प कार्यालय में लोनिवि, पर्यटन एवं कैंचीधाम समिति के सदस्यों के साथ बैठक कर बनने वाले प्रोजेक्ट पर विस्तार से चर्चा की।* 
 बैठक में अधिशासी अभियंता लोनिवि ने कैची धाम में बनने वाले प्रोजेक्ट के बारे में बताया कि कैची धाम का नयां ब्रिज बनाया जायेगा जो भव्य एवं आधुनिक होगा, पुराने एवं नये ब्रिज के मध्य रिक्त स्थान पर आगंतुकों हेतु मेडिटेशन, पाठ सेन्टर बनाया जायेगा तथा पार्किंग स्थल से पैदल पथ धाम तक बनाया जायेगा। उन्होंने बताया कि पार्किग एवं ब्रिज का प्रोजेक्ट 21 करोड का है। टेंडर प्रक्रिया शीघ्र ही प्रारम्भ की जायेगी। 

जिलाधिकारी ने अधिशासी अभियंता लोनिवि को निर्देश दिये कि मल्टीस्टोरी पार्किग में हैलीपेड भी बनाया जाय ताकि जाम की समस्या से निजात मिल सके साथ ही शिप्रा नदी के पर नये ब्रिज के नीचे लेक का आधुनिक व भव्य स्वरूप दिया जाए। उन्होंने कहा कि कैंचीधाम समिति के प्रतिनिधियों के साथ बैठक कर शीघ्र प्रोजेक्ट को अन्तिम रूप दिया जाए।
बैठक में उपजिलाधिकारी प्रमोद कुमार,बीसी पंत,अधिशासी अभिंयता जलसंस्थान विपिन कुमार, यूपीसीएल एसके सहगल, अधिशासी अधिकारी नैनीताल पूजा, निर्माण दायी संस्था के इंजीनियर नितेश कुमार, राहुल जोशी के साथ ही सम्बन्धित अधिकारी उपस्थित थे।

यह भी पढ़ें -  दवाईयों की कालाबजारी को रोकने के लिये डीएम ने की छापेमारी

   जिला सूचना अधिकारी नैनीताल  05946-220184
Advertisement