रम्पुरा में फांसी पर झूल गया युवक, पुलिस पर मारपीट और पैसा लेकर छोड़ने का आरोप

खबर शेयर करें -

रुद्रपुर के रम्पुरा में चौरासी घंटा मंदिर आज एक युवक के आत्महत्या कर लेने के बाद खासा हंगामा हो गया। मृतक के परिजनों का आरोप था कि पुलिस सोमवार रात युवक अनिल को उठाकर चौकी ले गई थी और वहां उसके साथ मारपीट की गई। बाद में चौकी में 1500 रुपये देने के बाद ही उसे पुलिस ने भाई सर्वेश के सुपुर्द किया। देर रात इसी आत्मग्लानी में युवक अनिल ने घर के एक झोपड़ी नुमा कमरे में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। सुबह करीब 7 बजे परिवार वालों को इस घटना का पता लगा। उन्होंने पुलिस को सूचना दी तो पुलिस मौके पर पहुंची।

आरोप है कि पुलिस ने इस बीच मृतक की भाभी को कमरे में बुलाकर उसके साथ मारपीट की और गालियां दीं। इस घटना से इलाके में आक्रोश फैल गया। सैकड़ो की संख्या में लोग मृतक के घर पर जमा हो गए। पूर्व विधायक राजकुमार ठुकराल और समाजसेवी हिम्मत राम कोली ने इस घटना पर गुस्सा जताया। ठुकराल इस बीच भीड़ को लेकर कोतवाली में पहुंच गए और वहां जमीन पर धरना देकर बैठ गए।

यह भी पढ़ें -  गवर्नर भगत सिंह कोश्यारी की जगह पूर्व CM कैप्टन अमरिंदर सिंह बन सकते हैं महाराष्ट्र के अगले राज्यपाल

कोतवाल विक्रम सिंह राठौड़ ने 2 घंटे में आरोपी पुलिस कर्मियों पर कार्रवाई का भरोसा दिलाया। बताया कि आरोपी दारोगा को रम्पुरा पुलिस चौकी से हटा दिया गया है लेकिन लोग इस पर सहमत नहीं हुए। उनका कहना था कि दरोगा को लाइन हाजिर अथवा सस्पेंड किया जाए। पूर्व विधायक ने चेतावनी दी कि अगर 2 घंटे के भीतर आरोपी पुलिस कर्मियों पर कार्रवाई न की गई तो कोतवाली के सामने हाईवे पर शव रख कर प्रदर्शन किया जाएगा। पोस्टमार्टम हाउस पहुंचे मेयर रामपाल सिंह ने भी इस घटना पर आक्रोश जताया और पुलिस अधिकारियों से आरोपी ल कर्मियों पर सख्त कार्रवाई की मांग की। उनका कहना था कि पुलिस उत्पीड़न के चलते ही युवक ने आत्महत्या जैसा कदम उठाया। इस बीच पोस्टमार्टम हाउस और मृतक के घर पर फोर्स तैनात कर दी गई।

यह भी पढ़ें -  पेपर लीक मामला, युवाओं पर हुए लाठीचार्ज के लिए पूर्व मुख्यमंत्री ने मांगी माफी

Advertisement