प्रदेश में आया बारिश का ऑरेंज अलर्ट,जानिए किन किन जिलो पर बरसेगा पानी

खबर शेयर करें -

मानसून को लेकर बड़ी अपडेट आ रही है मौसम विभाग ने स्पेशल बुलेटिन जारी करते हुए 24 से 30 जून तक उत्तराखंड में भारी बारिश/गरज के साथ बारिश की गतिविधियां बढ़ने, को लेकर ऑरेंज अलर्ट जारी किया है मौसम विभाग के अनुसार 30 जून तक उत्तरी पंजाब से लेकर उत्तरी हरियाणा और उत्तर प्रदेश में बंगाल की खाड़ी तक कम दबाव का क्षेत्र बन रहा है जिसको लेकर नवसारी, जलगांव, मंडला, पेंड्रा रोड, झारसुगुड़ा, बालासोर, हल्दिया, पाकुड़, साहिबगंज और

रक्सौल उत्तरी अरब सागर के कुछ और हिस्सों, गुजरात राज्य, महाराष्ट्र के शेष हिस्सों, मध्य प्रदेश के कुछ और हिस्सों, छत्तीसगढ़, ओडिशा, गंगीय पश्चिम बंगाल, झारखंड, बिहार और पूर्व के कुछ हिस्सों में दक्षिण-पश्चिम मानसून के आगे बढ़ने के लिए परिस्थितियाँ अनुकूल हो गई है अगले 3-4 दिनों के दौरान उत्तर प्रदेश में 24 जून को कई स्थानों पर और उसके बाद उत्तराखंड में अधिकांश स्थानों पर हल्की से मध्यम

यह भी पढ़ें -  बाइक और स्कूटी सवार की जोरदार भिड़ंत

बारिश/गरज के साथ बौछारें पड़ने की संभावना है। उत्तराखंड के लिए मौसम चेतावनी जारी करते हुए मौसम विभाग ने कहा है कि 24 से 26 जून को उत्तराखंड के चंपावत, पिथौरागढ और बागेश्वर जिलों में अलग-अलग स्थानों पर भारी वर्षा होने की संभावना है। और 29 जून को बिजली चमकने के साथ आंधी, तीव्र से बहुत तीव्र दौर और तेज हवाएं (40 से 50 किमी प्रति घंटे) उत्तराखंड की पहाड़ियों में अलग-अलग स्थानों पर 27, 28 और 30 तारीख को होने की संभावना है। मौसम विभाग ने चेतावनी जारी करते हुए उत्तराखंड के जिलों में अलग-अलग स्थानों पर भारी से बहुत भारी वर्षा होने की संभावना बिजली चमकने के साथ आंधी, बहुत तीव्र से अत्यधिक तीव्र आंधी आने की संभावना व्यक्त की है
मौसम विभाग ने इससे सचेत रहने के लिए बस्तियों/नालों/नालों के पास रहने वाले लोगों को सतर्क रहने की बात कही है भारी बरसात के दौरान मामूली भूस्खलन और चट्टानों का गिरना बस्तियों में / भूस्खलन संभावित क्षेत्र में अलग-थलग स्थानों पर रहने वाले लोग संवेदनशील क्षेत्रों में हैं, वह सतर्क रहें जिसके परिणामस्वरूप 24 जून को भारी वर्षा के दौरान सतर्क रहें इस दौरान, राजमार्गों का अवरुद्ध हो सकते हैं तथा बारिश की गतिविधियां बढ़ सकती है तथा 26 जून को यात्रा के दौरान नदी नालों के जल स्तर बढ़ सकते हैं । यात्री सतर्कता बरते।।

Advertisement