महिला से ₹40 लाख ठगने वाला आरोपी पुलिस ने किया गिरफ्तार

खबर शेयर करें -

उत्तराखंड एसटीएफ को मिली बड़ी सफलता
15 हजार इनामी था तांत्रिक सुलेमान बाबा
देहरादून। उत्तराखंड स्पेशल टास्क फोर्स ( STF ) ने लाखों की ठगी करने वाले इनामी फर्जी तांत्रिक को गिरफ्तार किया है। तांत्रिक ‘घरेलू परेशानियां, पारिवारिक कलह से मुक्ति’ दिलाने का झांसा देकर लोगों से ठगी करता था।
उत्तराखंड एसटीएफ की टीम ने 15 हजार के इनामी फर्जी तांत्रिक सुलेमान बाबा को मधुविहार, दिल्ली से गिरफ्तार किया है। तांत्रिक ने हरिद्वार की महिला को उसकी घरेलू परेशानी को तंत्र मंत्र से दूर करने का झांसा देकर 40 लाख रुपए ऐंठ लिए थे। ठगी के बाद पिछले 2 साल से तांत्रिक फरार चल रहा था। पकड़े गए तांत्रिक के कई फर्जी नाम, तंत्र मंत्र के नाम पर कई लोगों से लाखों की ठगी कर चुका है वहीं ठगी के रुपयों से आरोपी ने दिल्ली के रिहायशी इलाके में करोड़ों का फ्लैट खरीदा है।

एसटीएफ के मुताबिक, साल अप्रैल 2022 में हरिद्वार जिले के थाना गंगनहर में एक महिला ने सूचना दी कि उसके पति की मृत्यु कोरोना बीमारी के कारण मई 2021 में और देवर की मृत्यु जुलाई 2021 में हार्ट अटैक से हो गई थी वहीं परिवार के दो सदस्यों के जाने से वह काफी परेशान थी। उसने अक्टूबर 2021 में टीवी देखते हुए एक इश्तिहार (विज्ञापन) पर सुलेमान बाबा उर्फ अरशद खान का मोबाइल नंबर देखा। महिला ने नंबर पर बात की तो तांत्रिक ने पीड़िता को बताया कि उसके परिवार पर मौत का खतरा मंडरा रहा है वहीं अभी और मौतें होनी है, इससे महिला काफी डर गई और उसने इलाज के बहाने तांत्रिक सुलेमान बाबा को करीब 40 लाख रुपए दे दिए। रुपए देने के बाद महिला ने इस बात की जानकारी परिवार के अन्य लोगों को भी दी जिस पर अन्य लोगों ने महिला को ठगी की बात कही।
पीड़ित महिला ने तांत्रिक के नंबर पर कॉल किया तो नंबर लगातार बंद आता रहा।

इसके बाद थाना गंगनहर में धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज किया गया। मुकदमा दर्ज होने के बाद तांत्रिक सुलेमान बाबा तभी से फरार चल रहा था। जिसकी गिरप्तारी के लिए एसएसपी हरिद्वार ने टीम का गठन किया और आरोपी तांत्रिक के ऊपर 15 हजार रुपए ईनाम की घोषणा की। 15 मई 2024 को मामले में उत्तराखंड एसटीएफ को सूचना मिली कि तांत्रित सुलेमान बाबा आजाद अपार्टमेंट, मधुविहार दिल्ली में फ्लैट लेकर रह रहा है। जिस पर एसटीएफ की टीम ने दबिश देकर सुलेमान बाबा को मौके से गिरफ्तार किया और थाना गंगनहर हरिद्वार में दाखिल किया।

एसएसपी आयुष अग्रवाल ने बताया कि अपराधी सुलेमान बाबा उर्फ अरशद उर्फ इंतजार उर्फ भूरा इस काम में पिछले 15 सालों से लिप्त है। उसके द्वारा पहले स्थानीय केवल नेटवर्क के जरिए ‘घरेलू परेशानियां, पारिवारिक कलह को झाड़–फूंक–तंत्र मंत्र से खत्म करना और वशीकरण आदि करने के लिए’ अपने तंत्र मंत्र का विज्ञापन दिया जाता है फिर उससे संपर्क करने वालों से भारी मात्रा में रुपए ऐंठ लिए जाते हैं। आरोपी के खिलाफ 5 मामले पहले से दर्ज हैं, जिसमें 4 मामले थाना मधुविहार दिल्ली और 1 मामला थाना लाजपतनगर दिल्ली में दर्ज हुआ है। पकड़ा गया तांत्रिक दिल्ली मधुविहार क्षेत्र में एक रिहायशी अपार्टमेंट में फ्लैट खरीदकर रह रहा था। वह अपनी पहचान बदलते रहता था जिसके चलते आसानी से पकड़ में नहीं आ रहा था।

Advertisement
यह भी पढ़ें -  कोरोना की तीसरी लहर के दौरान पांच प्रतिशत बच्चों को ही संक्रमण के बाद अस्पताल में भर्ती कराने की नौबत आएगी