सीएम धामी की अपील के बाद ग्रामीण इकट्ठा करने लगे पिरूल, इतने रुपये में खरीद रही सरकार

खबर शेयर करें -

पिरूल को वनाग्नि का बड़ा कारण माना जाता है। ऐसे में अब सरकार वनाग्नि को रोकने के लिए ‘पिरूल लाओ-पैसे पाओ’ मिशन पर भी कार्य कर रही है

उत्तराखंड के जंगलों में बढ़ती आग की घटनाओं को देखते हुए सीएम पुष्कर सिंह धामी ने लोगों से पिरूल को इकट्ठा करने की अपील की थी। जिसके बाद अब पहाड़ी इलाकों में ग्रामीण पिरूल एकत्र करने लगे हैं।

यह भी पढ़ें -  उत्तराखंड न्यूज: खटीमा में पूर्व ग्राम प्रधान के बेटे की ट्रेक्टर के नीचे दब कर मौत


पिरूल को वनाग्नि का बड़ा कारण माना जाता है। ऐसे में अब सरकार वनाग्नि को रोकने के लिए ‘पिरूल लाओ-पैसे पाओ’ मिशन पर भी कार्य कर रही है। सीएम धामी के निर्देश के बाद इस मिशन के तहत जंगल की आग को कम करने के उद्देश्य से पिरूल कलेक्शन सेंटर पर 50 रुपये प्रति किलो की दर से पिरूल खरीदे जाएंगे।

यह भी पढ़ें -  यहां शारदा बैराज में महिला और पुरुष की मिली लाश, नहीं हो पाई शिनाख्त

बता दें कि इस राशि को तीन रुपए से बढ़ाकर पचास रुपये किया गया है। इस मिशन का संचालन पॉल्यूशन कंट्रोल बोर्ड द्वारा किया जाएगा। इसके लिए 50 करोड़ का कार्पस फंड अलग से रखा गया है।

Advertisement