स्टोन क्रेशर कर्मी की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत, पुलिस ने पूछताछ के लिए इन लोगों को उठाया

खबर शेयर करें -

हल्दूचौड़ क्षेत्र की शिवालिक कॉलोनी निवासी स्टोन क्रेशर कर्मी की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई, पुलिस ने शव का पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया, इधर मामले में छानबीन करते हुए पुलिस ने दो महिलाओं और एक युवक को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार अरविंद चौहान पुत्र महेंद्र चौहान उम्र 48 वर्ष निवासी शिवालिक पुरम हल्दुचौड़ गत देर शाम को दो महिला और एक युवक के साथ कार में सवार होकर लालकुआं नगर स्थित एक निजी क्लीनिक में पहुंचे, जहां चिकित्सक से बातचीत करते हुए उन्होंने दवा ली, लगभग एक घंटे बाद पुनः उसी क्लीनिक में दो महिला और एक युवक उक्त व्यक्ति को अचेत हालत में लेकर पहुंचे, चिकित्सक द्वारा उसकी जांच की तो बताया कि व्यक्ति की मौत हो चुकी है, अरविंद चौहान नामक व्यक्ति की मौत से आसपास हड़कंप मच गया, और लोग एकत्र हो गए, क्षेत्र वासियों ने मौके पर मौजूद महिला को नहीं जाने दिया, तथा पुलिस बुला ली।

यह भी पढ़ें -  स्वामी विवेकानंद राष्ट्रीय पुरस्कार 2024 से सम्मानित हुए समाजसेवी पीयूष जोशी


पुलिस ने मौके पर पहुंचकर दो महिलाओं एवं साथी युवक को रोक लिया, जिनसे पूछताछ शुरू कर दी। उक्त महिलाएं स्वयं को उधम सिंह नगर जनपद के बाजपुर का निवासी बता रही थी, पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए हल्द्वानी भिजवा दिया, तथा मामले की जांच शुरू कर दी। मौके पर पहुंचे कोतवाली के वरिष्ठ उप निरीक्षक हरेंद्र सिंह नेगी और दीपक बिष्ट ने मृतक के घर एवं निजी क्लीनिक में पूछताछ की तो पता चला है कि अरविंद चौहान के बच्चे कुछ समय से बाहर गए हुए थे और उसकी पत्नी की एक वर्ष पूर्व मौत हो चुकी है, तथा उक्त महिलाएं एवं युवक कुछ समय से उसके घर पर ही रह रहे थे, वरिष्ठ उप निरीक्षक हरेंद्र सिंह नेगी के अनुसार शव का पोस्टमार्टम करा दिया गया है, पुलिस प्रकरण की विस्तार पूर्वक जांच कर रही है, मृतक का विशरा एवं हृदय जांच के लिए सुरक्षित रखवा लिया गया है, फिलहाल मृत्यु का कारण हृदय गति रुकना बताया जा रहा है।

यह भी पढ़ें -  धामी कैबिनेट की अहम बैठक आज

फ़ास्ट न्यूज़ 👉 हल्दूचौड़ में हुई चोरी का पुलिस ने 24 घंटे के अंदर किया खुलासा, दो आरोपी गिरफ्तार
विदित रहे कि शिवालिक कॉलोनी में निवास करने वाला अरविंद चौहान बाजपुर के एक स्टोन क्रेशर में कर्मचारी था, मामले में दो बाहरी महिलाओं की एंट्री होने से पुलिस ने प्रकरण को संदिग्ध माना तथा घर, आसपास, उक्त निजी क्लीनिक में विस्तार पूर्वक छानबीन एवं पूछताछ भी की है।

Advertisement