उत्तराखंड में एसिड अटैक का दिलदहला देने वाला मामला, अनजान व्‍यक्ति ने गुप्तांग में किया हमला

खबर शेयर करें -


अल्मोड़ा: Acid Attack in Uttarakhand: दन्यां क्षेत्र में दिल दहलाने वाला एसिड अटैक का मामला सामने आया है। काम से लौट रहे व्यक्ति के गुप्तांग में अज्ञात ने एसिड डाल दिया। पीड़ित को गंभीर हालत में सुशीला तिवारी अस्पताल हल्द्वानी रेफर किया गया है।

उनकी हालत नाजुक बनी हुई है। पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। हालांकि पुलिस एसिड या अन्य से जले होने के संबंध में चिकित्सकी रिपोर्ट का इंतजार कर रही है।

ग्राम अंडोली निवासी लक्ष्मीदत्त पांडे (56) पुत्र देवीदत्त पांडे टैंट हाउस में कैटरिंग का कार्य करते हैं। बीते 22 अप्रैल को वह कार्य से गरुड़ाबांज क्षत्र में गए थे। देर शाम वहां से घर लौटते समय वह रास्ते में कहीं कार्य से रुक गए। इसके बाद उन्होंने अपना कार्य निपटाया। जिसके बाद वह पूरी रात नहीं लौटे।

यह भी पढ़ें -  बड़ा हादसा : आंधी-तूफान से गिरी होर्डिंग में लोग दब गए_14 की मौत 74 घायल.

गंभीर हालत में उन्हें हायर सेंटर रेफर किया
अगले दिन सुबह वह घर से करीब 200 मीटर दूरी पर बेहोश हालत में मिले। स्वजन ग्रामीणों के साथ मिलकर उन्हें धौलादेवी अस्पताल ले गए। जहां उनके गुप्तांग के जले होने की जानकारी मिली। इसके बाद उन्हें अल्मोड़ा बेस अस्पताल लाया गया। जहां से प्राथमिक उपचार के बाद गंभीर हालत में उन्हें हायर सेंटर रेफर कर दिया।

यह भी पढ़ें -  नैनीताल जिला प्रशासन ने धूमधाम से मनाया अंतरष्ट्रीय योग दिवस

स्वजन पीड़ित को लेकर सुशीला तिवारी अस्पताल हल्द्वानी ले गए। जहां मरीज को भर्ती कर उसका उपचार किया जा रहा है। लेकिन उनकी हालत गंभीर बनी हुई है। पीड़ित के पुत्र पूरन पांडे ने बताया कि अस्पताल में चिकित्सकों के अनुसार यह एसिड अटैक है।

हालांकि कितन ज्वलनशील है इस संबंध में जांच रिपोर्ट आनी बांकि है। उन्होंने आरोपित के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई की मांग की है। इधर पीड़ित की बहु नीमा पांडे ने दन्यां थाने में तहरीर सौंपी। तहरीर के आधार पर पुलिस ने अज्ञात के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज कर ली।

यह भी पढ़ें -  एल्विश यादव ने नोएडा पुलिस के सामने कबूला ‘सच’, राहुल पर किया बड़ा दावा

व्यक्ति के अंग जले हुए हैं। लेकिन जलाया आग से या अन्य किसी पदार्थ से और कैसे जला इस संबंध में फिलहाल पुष्टि नहीं हुई है। जांच रिपोर्ट आने के बाद ही इसकी पुष्टि होगी। मुकदमा दर्ज कर मामले की जांच की जा रही है।

Advertisement