बड़ी खबर -उपचुनाव से पहले भाजपा नेता की ऑडियो हुई वायरल, पढ़े खबर

खबर शेयर करें -

देहरादून: उत्तराखंड राज्य की दो विधानसभा सीटों पर उपचुनाव होना है. इसकी तैयारियां जोरों-शोरों से चल रही हैं. राजनीतिक पार्टियों चुनाव जीतने को लेकर दमखम से तैयारी में जुटी हुई हैं. इसी बीच बदरीनाथ विधानसभा सीट से भाजपा उम्मीदवार और पूर्व विधायक राजेंद्र भंडारी के लिए एक मुसीबत खड़ी हो गई है.

दरअसल राजेंद्र भंडारी का एक ऑडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है. इसमें राजेंद्र भंडारी कथित तौर पर ब्राह्मण समाज को लेकर गलत शब्दों का प्रयोग करते सुनाई दे रहे हैं. विधानसभा उपचुनाव के बीच राजेंद्र भंडारी का ऑडियो एक बार फिर तेजी से वायरल होने के चलते सियासत गरमा गई है. दरअसल, राजेंद्र भंडारी का यह वायरल ऑडियो काफी पुराना बताया जा रहा है.

कुछ महीने पहले यह ऑडियो वायरल होने के बाद राजेंद्र भंडारी ने प्रदेश की जनता से माफी भी मांगी थी. वहीं अब इस उपचुनाव के बीच तेजी से वायरल हो रहे राजेंद्र भंडारी के ऑडियो के कई मायने निकाले जा रहे हैं. जिस वक्त राजेंद्र भंडारी का यह ऑडियो रिकॉर्ड किया गया था, उस वक्त वो कांग्रेस पार्टी से बदरीनाथ विधानसभा सीट से विधायक थे. ऐसे में विपक्षी दल कांग्रेस को एक बड़ा मुद्दा मिल गया है, जिसको विपक्ष भुनाने की कवायद में जुट गया है, ताकि बदरीनाथ विधानसभा सीट पर हो रहे उपचुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी चुनाव जीत सके.

यह भी पढ़ें -  रानीखेत-यहाँ 989 अग्निवीर बने भारतीय सेना का हिस्सा, ब्रिगेडियर संजय कुमार यादव ने ली सलामी

साल 2022 में हुए विधानसभा चुनाव के दौरान बदरीनाथ सीट से भाजपा उम्मीदवार रहे महेंद्र भट्ट को राजेंद्र भंडारी ने मात दी थी. इस चुनाव के बाद से ही महेंद्र भट्ट और राजेंद्र भंडारी के बीच वाद विवाद होता रहा था. महेंद्र भट्ट ब्राह्मण समाज से ताल्लुक रखते हैं. यही वजह रही कि राजेंद्र भंडारी ने कांग्रेस से विधायक रहते हुए ब्राह्मण समाज को लेकर कथित रूप से गलत भाषा का प्रयोग किया था. लेकिन लोकसभा चुनाव 2024 से पहले ही राजेंद्र भंडारी ने कांग्रेस के विधायक पद से इस्तीफा देकर भाजपा का दामन थाम लिया था. जिसके बाद भाजपा ने राजेंद्र भंडारी को बदरीनाथ विधानसभा सीट से उपचुनाव में उम्मीदवार बनाया है.
सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहे राजेंद्र भंडारी के ऑडियो के सवाल पर भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र भट्ट ने कहा कि राजेंद्र भंडारी का जो ऑडियो वायरल हो रहा है, वो काफी पुराना है. ये ऑडियो उस समय का है, जब भंडारी कांग्रेस में थे. लिहाजा, जिस दल में व्यक्ति होता है, उस दल के संस्कार व्यक्ति में दिखाई देते हैं. अब भंडारी भाजपा में आ गए हैं, तो भाजपा के संस्कार के चलते उन्होंने अपने इस ऑडियो के लिए माफी भी मांग ली है. ऐसे में सभी कार्यकर्ताओं को ये संतुष्टि मिली है कि भाजपा का जो भी विधायक होता है, वो पार्टी के संविधान के अनुसार काम करता है. लिहाजा भंडारी उस दिशा में आगे बढ़ेंगे. साथ ही कहा कि राजेंद्र भंडारी एक प्रभावशाली नेता हैं. तीन बार विधायक रह चुके है. ऐसे में इस उपचुनाव को अच्छे मतों से जीतेंगे.

यह भी पढ़ें -  सड़क दुर्घटना में दो बुजुर्गों की मौत दो घायल

भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र भट्ट के बयान पर पलटवार करते हुए कांग्रेस की प्रदेश प्रवक्ता गरिमा दसौनी ने कहा कि ऐसा दिखाई तो नहीं देता कि महेंद्र भट्ट का दिल इतना बड़ा होगा, जिसके चलते उन्होंने भंडारी को माफ कर दिया होगा. लेकिन ये बड़ी हास्यास्पद बात कही है कि जैसा दल होता है, वैसा ही व्यक्ति का दिल हो जाता है. आचरण और संस्कार नाम की भी चीज होती है. जिन स्थितियों और परिस्थितियों में व्यक्ति अपना जीवन व्यतीत किया होता है, उसका विचार पर फर्क पड़ता है. भंडारी के जो विचार ऑडियो में सुनाई दे रहे हैं, कांग्रेस उसकी निंदा करती है. साथ ही कहा कि जो व्यक्ति धर्म और जाति में खाई पैदा करने का काम कर रहा हो, उसको तो कभी माफ नहीं करना चाहिए.

Advertisement