दुग्ध संघ घोटाला मामले में जीएम से स्पष्टीकरण मांगा

खबर शेयर करें -

हल्द्वानी। नैनीताल दुग्ध उत्पादक सहकारी संघ लालकुआं में वित्तीय अनियमितताओं के मामले में डेयरी निदेशालय ने जीएम को शिकंजा कस दिया है। जीएम को नोटिस जारी कर मामले में 10 दिन के भीतर स्पष्टीकरण तलब किया है। बता दें कि मामले में शिकायत के बाद कुमाऊं कमिश्नर की जांच में सहकारी संघ लालकुआं में वित्तीय अनियमितताओं की पुष्टि हुई थी।

नैनीताल दुग्ध उत्पादक सहकारी संघ लालकुआं के जीएम पर तीन दिन का समय देकर दो घंटे में टेंडर खोलना, न्यून प्रसार वाले समाचार पत्र में टेंडर की अधिसूचना प्रकाशित कराने, यूसीडीएफ की वेबसाइट पर निविदा की सूचना अपलोड नहीं करने, एक ही जीएसटी नंबर की दो फर्म को टेंडर जारी करने, कच्चे बिलों पर लाखों का भुगतान करना, दक्षिण भारत के भ्रमण पर जाने वालों को टिकट उपलब्ध नहीं कराने समेत तमाम आरोप लगे थे। मामले में भाजपा जनजाति मोर्चा के पूर्व जिलाध्यक्ष हरीश चंद्र आर्या ने 26 मई 2023 को डेयरी विकास विभाग के सचिव को पत्र भेजकर वित्तीय अनियमितताओं का आरोप लगाकर जांच की मांग की थी। शासन से इसकी जांच कुमाऊं कमिश्नर दीपक रावत को सौंपी थी। कमिश्नर की जांच में सभी आरोपों की पुष्टि हुई।

यह भी पढ़ें -  यहां युवक युवती की संदिग्ध हालत में मिली लाश, जांच में जुटी पुलिस

जांच में आरोपी की पुष्टि होने के बाद जीएम से स्पष्टीकरण तलब किया गया है। इसके लिए दस दिन का समय दिया है। वहीं अगर जवाब संतुष्टि पूर्ण नहीं मिलता है या विभागीय बातचीत में कुछ और निकलकर सामने आता है तो वैधानिक तौर पर रिकवरी के आदेश भी जारी हो सकते हैं। फिलहाल जीएम के जवाब का इंतजार है। – संजय खेतवाल, निदेशक डेयरी निदेशालय नैनीताल उत्तराखंड

Advertisement