बाबा तरसेम सिंह की हत्या मामला, घटनास्थल का निरीक्षण करने पहुंचे DGP

खबर शेयर करें -



नानकमत्ता के प्रमुख बाबा तरसेम सिंह की हत्या मामले में उत्तराखंड के डीजीपी अभिनव कुमार शुक्रवार को घटनास्थल का जायजा लेने नानकमत्ता पहुंचे। इस दौरान मौके पर डीजीपी के साथ खुफिया टीम भी मौजूद थी। डीजीपी ने पुलिस अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक कर कहा की जल्द मामले का खुलासा किया जाएगा।


डीजीपी अभिनव कुमार ने नानकमत्ता पहुंचकर घटनास्थल का जायजा लिया और सेवादारों से भी मुलाकात की। पुलिस ने तहरीर के आधार पर पांच लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। जिसमें सर्वजीत सिंह, अमरजीत सिंह, प्रीतम सिंह सिधु, हरवंश सिंह चुघ और बाबा अनूप सिंह का नाम शामिल है।

यह भी पढ़ें -  प्रदेश के कई जिलों में हुई सीजन की पहली बर्फबारी, चांदी सी चमकी चोटियां, तस्वीरों में देखें नजारा


वहीं घटना को अंजाम देने वाले सरबजीत सिंह पुत्र स्वरूप सिंह निवासी पंजाब और अमरजीत सिंह उर्फ बिट्टू पुत्र सुरेंद्र सिंह निवासी बिलासपुर, उत्तर प्रदेश की पहचान सीसीटीवी से हुई है। दोनों ही आरोपियों ने घटना को अंजाम दिया था। बता दें दोनों आरोपी 19 मार्च से नानकमत्ता गुरुद्वारे में ही कमरा लेकर रह रहे थे।

यह भी पढ़ें -  छात्र- छात्राओं के द्वारा माता-पिता को खत लिखकर, मेहंदी, पोस्टर आदि के माध्यम से मतदाताओं को मतदान के लिए प्रेरित किया

ये है पूरा मामला
बता दें बीते गुरुवार को सुबह करीब 6:15 से 6:30 की है। बाबा तरसेम सिंह कुर्सी पर बैठे थे। तभी अचानक सामने से आए दो बाइक सवार बदमाशों ने उन पर फायरिंग कर दी। गोलियां लगने से तरसेम सिंह गंभीर रूप से घायल हो गए थे।

आनन-फानन में उन्हें खटीमा के निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां उनकी मौत हो गई। बता दें कि इस हत्याकांड को नानकमत्ता गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के जल्द होने वाले चुनाव से जोड़कर भी देखा जा रहा है। मामले की जांच के लिए SIT का गठन कर दिया गया है। फिलहाल आरोपियों की तलाश जारी है

Advertisement