Dhami Cabinate : धामी कैबिनेट में आए 12 प्रस्ताव, सभी फैसले यहां पढ़ें विस्तार से

खबर शेयर करें -


सचिवालय में सीएम पुष्कर सिंह धामी की अध्यक्षता में हो रही धामी कैबिनेट की बैठक खत्म हो गई है। बैठक में कई मुद्दों पर चर्चा की गई। मंत्रिमंडल की बैठक में आज कुल 12 प्रस्ताव आए। कैबिनेट से ऊर्जा और वैकल्पिक ऊर्जा विभाग के तहत 80 नए पदों को भरने को मंजूरी मिल गई है।

20 जुलाई 2023 को हुई चमोली स्थित सीवर ट्रीटमेंट प्लांट दुघर्टना के आलोक में राज्य सरकार द्वारा निर्गत दिशा-निर्देशों की पूर्ति हेतु विद्युत सुरक्षा विभाग के कार्यों को समयबद्ध रूप से सुनिश्चित किये जाने हेतु राज्य की भौगालिक परिस्थितियों के अनुसार विभागीय कार्यों का जनपदों के आधार पर निर्धारण करते हुए वर्तमान पदीय ढांचे में सृजित 65 पदों के सापेक्ष 123 पदों को पुर्नगठित किये जाने विषयक विभागीय प्रस्ताव के सापेक्ष मंत्रिमण्डल द्वारा 80 पदों के सृजन प्रस्ताव एवं पुर्नगठन पर अनुमोदन प्रदान किया गया।

यह भी पढ़ें -  हल्द्वानी  प्रभागीय वन अधिकारी उप प्रभागीय वनाधिकारी ने स्कूली बच्चों के साथ मनाया  अंतरराष्ट्रीय जैव विविधता दिवस

उत्तराखण्ड एकीकृत महानगर परिवहन प्राधिकरण विधेयक के संबंध में
उत्तराखण्ड राज्य में शहरी परिवहन के विकास, संचालन, रखरखाव, निगरानी और पर्यवेक्षण को विनियमित करने के लिए ‘उत्तराखण्ड एकीकृत महानगर परिवहन प्राधिकरण विधेयक, 2024’ का प्रख्यापन किया जाना अति आवश्यक है।
उत्तराखण्ड राज्य में उत्तराखण्ड यूनिफाइड मेट्रोपॉलिटन ट्रांसपोर्ट अथॉरिटी के प्रबन्धन एवं नियंत्रण हेतु विधेयक की आवश्यकता प्रतीत हुई है। विधेयक का ड्राफ्ट् MoHUA के दिशा-निर्देशों एवं केरल राज्य के मेट्रोपॉलिटन ट्रांसपोर्ट अथॉरिटी के अधिनियम, 2019 के आधार पर तैयार किया गया है। राज्य में शहरी परिवहन के विकास, संचालन, रखरखाव, निगरानी और पर्यवेक्षण को विनियमित करने के लिए ‘उत्तराखण्ड एकीकृत महानगर परिवहन प्राधिकरण विधेयक, 2024’ विधेयक को विधान सभा में सदन के पटल पर रखे जाने की अनुमति कैबिनेट द्वारा प्रदान की गई है।

यह भी पढ़ें -  काशीपुर के यह दो और छात्र सकुशल पहुंचे भारत

धामी कैबिनेट की बैठक में लिए गए ये फैसले
आवास विकास विभाग के तहत मिनिस्ट्रियल संवर्ग की कोई नियमावली नहीं थी जिसे मंजूरी दी गई है। वित्त सेवा के तहत प्रमोशन होने के बाद भी अब ट्रेनिंग होगी। पहले प्रमोशन के बाद ट्रेनिंग की व्यवस्था नहीं थी।
वित्त विभाग के तहत कर्मचारियों को पहले बैंक से एक्सीडेंट पर बीमा नहीं मिलता था। लेकिन अब 4 बैंकों ने बीमा की कर्मचारियों को सुविधा दी है।
बैंक अब 38 लाख से 1 करोड़ तक बीमा देंगे। एसबीआई, कैनरा बैंक, बैंक ऑफ़ बड़ौदा और यूनियन बैंक में जिन कर्मचारियों के खाते होंगे उन्हें बीमा का लाभ मिलेगा।
पर्यटन नीति के तहत जिलों को श्रेणी में बांटा गया था। लेकिन अब 10 साल के लिए श्रेणी में बदलाव किया गया है। 10 साल के लिए एसडीएसी होगा।
खाद्य वितरण प्रणाली के तहत 13 पदों को भरने को मंजूरी मिली।
चिकित्सा सेवा नियमावली में बदलाव किया गया है।
चिकित्सा बोर्ड में 3 पदों को भरने के लिए नियमावली में बदलाव किया गया है।
महासू देवता मास्टर प्लान के तहत विस्थापितों के लिए पुनर्वास नीति को मंजूरी मिल गई है। इसके तहत 16 परिवारों को विस्थापित किया जाएगा।

Advertisement