डॉक्टर नहीं थे इसलिए किया था रेफर’, पौड़ी में युवक की मौत पर बोलीं डीजी हेल्थ

खबर शेयर करें -



पौड़ी में एक युवक की इलाज के अभाव में मौत हो गई। युवक को एक जगह से दूसरी जगह रेफर किया गया। हायर सेंटर ले जाते हुए उसने दम तोड़ दिया। इस मामले में स्वास्थ्य महानिदेशक का बड़ा बयान सामने आया है। उन्होंने कहा है कि विशेषज्ञ डॉक्टरों की कमी थी इसलिए युवक को रेफर किया गया था। दुर्भाग्य से उसकी मौत हो गई।

व्यवस्थाओं के चलते पौड़ी में एक और युवक ने इलाज न मिलने की वजह से दम तोड़ दिया। घंटों अस्पताल दर अस्पताल भटकने के बाद भी जब इलाज नहीं मिला तो हल्द्वानी मेडिकल कॉलेज के डॉक्टरों ने अमित को दिल्ली रेफर कर दिया। लेकिन दिल्ली पहुंचने से पहले ही अमित ने रास्ते में दम तोड़ दिया। घटना के बाद से क्षेत्र के लोगों में आक्रोश है। अमित के परिजनों ने डीएम और पौड़ी सीएमओ से मामले की शिकायत की है।

यह भी पढ़ें -  Corona हेल्थ बुलेटिन जारी, पढ़िए जिलेवार ताजा आंकड़े

पौड़ी में युवक की मौत पर बोलीं डीजी हेल्थ
प्रदेश की स्वास्थ्य महानिदेशक विनीता शाह ने इस मामले में पर विशेषज्ञ डॉक्टरों की कमी का हवाला देते हुए कहा कि अमित का केस न्यूरो सर्जन का था, जिसकी प्रदेश में कमी है। इसी लिए अमित को दिल्ली रेफर किया गया था लेकिन दुर्भाग्यवश उसकी मौत हो गई। उन्होंने कहा कि इस मामले में उनकी नजर है और जल्द ही एक रिपोर्ट तैयार की जाएगी।

यह भी पढ़ें -  द कश्मीर फाइल्स को प्रोजेक्टर लगाकर निशुल्क सार्वजनिक स्थानों पर दिखाया जाएगा

रेफर पर रेफर, लेकिन युवक ने तोड़ा दम
बता दें कि तीन दिन पहले पौड़ी गढ़वाल के देवलधर (नैनीडांडा) निवासी अमित सिंह (24) पुत्र गिरधर सिंह का अचानक से स्वास्थ्य बिगड़ गया। युवक को आनन-फानन में ग्रामीण स्वास्थ्य केन्द्र धुमाकोट ले गए। जहां उसकी गंभीर हालत को देखते हुए युवक को नैनीडांडा रेफर कर दिया गया। लेकिन वहां से भी युवक को हायर सेंटर रेफर कर दिया गया।

यह भी पढ़ें -  बागेश्वर पिछले 18 घंटो में सात लोगों ने कोरोना से दम तोड़ा

नैनीडांडा से युवक को रामनगर के लिए रेफर किया गया। यहां डॉक्टरों ने पैरालिसिस अटैक बता कर युवक को हल्द्वानी के लिए रेफर कर दिया। लेकिन रेफर का ये सिलसिला हल्द्वानी में भी नहीं रूका और डॉक्टरों ने युवक को यहां से भी दिल्ली के लिए रेफर कर दिया। युवक को दिल्ली ले जाया जा रहा था लेकिन उसने रास्ते में ही दम तोड़ दिया।

Advertisement