प्लास्टिक का सामान बनाने के लाइसेंस पर बन रही थी नकली दवाएं,पुलिस ने पकड़ी फैक्ट्री, लाखों की नकली दवा बरामद

खबर शेयर करें -

काशीपुर। काशीपुर कोतवाली पुलिस और एसओज़ी की टीम ने सीतारामपुर स्थित हाईडिल कॉलोनी में छापा मारकर नकली दवा बनाने की फैक्ट्री पकड़ी है। मौके से विभिन्न ब्रांड के नाम की लाखों रुपये की नकली दवाइयां बरामद हुई हैं। पुलिस ने दो आरोपियों को हिरासत में लेकर फैक्ट्री को सील कर दिया गया है।

पुलिस के अनुसार, कुंडेश्वरी चौकी क्षेत्र स्थित हाईडिल कॉलोनी के एक मकान में नकली दवा बनाने की फैक्ट्री संचालित होने की सूचना मिली थी। इस पर सोमवार को पुलिस और एसओजी की टीम ने वरिष्ठ औषधि निरीक्षक नीरज कुमार के साथ छापा मारा। पुलिस ने मौके पर मिले यूपी के शामली निवासी अरुण कुमार पुत्र विनोद कुमार और रुड़की निवासी रविकांत पुत्र ओमपाल को हिरासत में ले लिया। जबकि दो आरोपी फरार हो गए। ड्रग्स इंस्पेक्टर नीरज ने बताया कि मौके पर नामचीन ब्रांड के नाम की एंटीसेप्टिक दवाएं बनाई जा रही थीं। मौके से दवा बनाने की मशीनें व डाई बरामद हुई हैं। इस अवैध फैक्ट्री से बरामद दवाओं और खाली रेपर की लिस्ट तैयार की गई है।

यह भी पढ़ें -  जिलाधिकारी विनीत कुमार की अध्यक्षता में जनपद हेतु बनायें जाने वाली जिला पर्यावरण योजना के संबंध में संबंधित विभागों के साथ एक महत्वपूर्ण बैठक हुई संपन्न

पुलिस ने एक कार भी कब्जे में ली है। बताया जा रहा है कि इसी कार से तैयार दवाइयों की सप्लाई होती थी। कोतवाल मनोज रतूड़ी ने बताया कि ड्रग्स इंस्पेक्टर की तहरीर पर मामले में मुकदमा दर्ज किया जा रहा है।
बताया गया है कि प्लास्टिक का सामान बनाने का लाइसेंस लेकर नकली दवाएं बनाई जा रही थीं। मौके पर प्लास्टिक का सामान बनाने की सामग्री भी मिली है। जिससे यहां प्लास्टिक के दोने, प्लेट, चम्मच आदि बनाए जा रहे थे। पुलिस आरोपियों और फैक्ट्री के बारे में विस्तार से जांच कर रही है। कार्रवाई के दौरान पता चला कि यह फैक्ट्री किराये के मकान में चल रही थी। अब पुलिस पता लगाने का प्रयास कर रही है कि यहां बनाई जा रही दवाओं की सप्लाई कहां-कहां होती थी। कार्रवाई के लिए पुलिस अधिकारियों ने वरिष्ठ औषधि निरीक्षक नीरज कुमार के साथ कोतवाल मनोज रतूड़ी के नेतृत्व में कटोराताल चौकी प्रभारी विपुल जोशी, एसआई संतोष देवरानी, मनोज जोशी सहित एसओजी टीम को लगाया था।

Advertisement