कल से विधानसभा परिसर के चारों ओर लगेगी धारा-144, यूसीसी पर विपक्ष बनाएगा रणनीति

खबर शेयर करें -


देहरादून : पांच फरवरी से विधानसभा परिसर के चारों ओर 300 मीटर की परिधि में धारा-144 लागू रहेगी। जिलाधिकारी सोनिका ने बताया, सोमवार से शुरू हो रहे विधानसभा सत्र के दौरान निर्धारित क्षेत्र में संगठनों व समुदायों के प्रदर्शन गतिविधियों पर पाबंदी रहेगी।

भीड़ लगाने सहित किसी भी प्रकार की नारेबाजी, लाउडस्पीकर का प्रयोग, सरकारी इमारतों पर नारे लिखना प्रतिबंधित रहेगा। किसी भी प्रकार के जुलूस, प्रदर्शन, सार्वजनिक सभा को बिना पूर्व अनुमति के नहीं किया जा सकेगा।

कार्यमंत्रणा समिति की बैठक
वहीं विधानसभा अध्यक्ष ऋतु खंडूड़ी भूषण ने रविवार को कार्यमंत्रणा समिति की बैठक बुलाई है। बैठक में सदन का बिजनेस तय होगा। कार्यमंत्रणा की बैठक के साथ ही स्पीकर विधायक मंडल दल के नेताओं के साथ भी बैठक करेंगी।

यह भी पढ़ें -  प्राधिकरणों को निर्देश, 7 दिन में देनी होगी नक्शे की NOC, वरना अधिकारियों का रुकेगा वेतन

इस बैठक में वह सभी दलों के नेताओं से सदन की कार्यवाही शांतिपूर्ण और सौहार्दपूर्ण ढंग से संचालित करने के लिए सहयोग की अपील करेंगी। सत्र के आठ फरवरी तक चलने की संभावना है। कार्यमंत्रणा समिति की बैठक में नेता सदन संसदीय कार्यमंत्री प्रेमचंद अग्रवाल, नेता प्रतिपक्ष यशपाल आर्य, विस सदस्य प्रीतम सिंह, मोहम्मद शहजाद, खजानदास और उमेश शर्मा काऊ शामिल होंगे।

यह भी पढ़ें -  रुद्रपुर में दुकान में बुलाकर मासूम के साथ किया कुकर्म…………… पुलिस ने इन 4 आरोपियों को किया अरेस्ट

बैठक सुबह 11.30 बजे से होगी। सूत्रों के मुताबिक, पहले दिन निधन पर शोक के प्रस्ताव आएंगे। छह फरवरी को समान नागरिक संहिता और राज्य आंदोलनकारियों के क्षैतिज आरक्षण के दो विधेयक पेश होंगे।

यूसीसी पर विपक्ष बनाएगा रणनीति, वरिष्ठ नेताओं को भी न्योता
नेता प्रतिपक्ष यशपाल आर्य ने रविवार शाम को अपने सरकारी आवास पर कांग्रेस विधानमंडल दल की बैठक बुलाई है। बैठक में धामी सरकार द्वारा लाए जा रहे समान नागरिक संहिता विधेयक को लेकर खासतौर पर रणनीति बनेगी। इस पर मंथन करने को आर्य ने पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत, पूर्व कैबिनेट मंत्री डॉ. हरक सिंह रावत, पूर्व प्रदेश अध्यक्ष गणेश गोदियाल, हीरा सिंह बिष्ट, नव प्रभात, मंत्री प्रसाद नैथानी, दिनेश अग्रवाल, सुरेंद्र सिंह नेगी समेत सभी वरिष्ठ नेताओं को आमंत्रित किया है। बैठक में यूसीसी के अलावा भू कानून, कानून व्यवस्था समेत कई अन्य मुद्दों को विपक्ष धार देगा।

Advertisement