विजिलेंस की बड़ी कार्रवाई : अमीन-अनुसेवक को किया रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार

खबर शेयर करें -



विजिलेंस की टीम ने हरिद्वार जनपद में तैनात संग्रह अमीन और अनुसेवक को 10 हजार रुपए की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथ गिरफ्तार किया है। विजिलेंस की टीम दोनों आरोपियों से पूछताछ कर रही है। दोनों आरोपियों के खिलाफ भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत केस दर्ज कराया है।


शुक्रवार को विजिलेंस की टीम ने बड़ी कार्यवाही को अंजाम दिया है। देहरादून से गई विजिलेंस की टीम ने लक्सर तहसील के एक अमीन और उसके अनुसेवक को 10 हजार की रिश्वत लेते हुए बालवाली तिराहे से रंग हाथो गिरफ्तार किया है। जानकारी के अनुसार खानपुर थाना क्षेत्र के रहीमपुर गांव निवासी मोहम्मद आरिफ ने विजिलेंस टीम के शिकायती टोल फ्री नंबर पर शिकायत दर्ज कार्रवाई थी।

यह भी पढ़ें -  जेलों में कैदियों की अधिक संख्या को देखते हुए 106 सिद्वदोष बंदियों एवं 685 सजा याफ्ता बंदियों को तीन माह के लिए पेरोल अंतरिम जमानत देने की संस्तुति

अमीन-अनुसेवक को किया रिश्वत लेते गिरफ्तार
शिकायतकर्ता ने बताया था कि उसने अपने नाम के टेंपो ट्रेवलर व अपनी पत्नी के नाम से मिनी बस को करीब चार साल पहले किसी को बेच दिया था। लेकिन दोनों वाहनों के बेचने संबंधी कागजात गलती से आग में जलने के कारण नष्ट हो गए। जिसके कारण वाहन किसको बेचा गया है उसे इसकी जानकारी नहीं थी।

यह भी पढ़ें -  प्रदेश में ये लोग कर सकेंगे 9 जुलाई तक रोडवेज बसों में फ्री सफर,आदेश जारी, देखें

आरोपियों से पूछताछ जारी
वहीं दोनों वाहनों की वसूली के संबंध में जारी आरसी को परिवहन विभाग को वापस करने व जेल भेजने से बचाने के एवज में संग्रह अमीन रवि पाल द्वारा उससे रिश्वत की मांग की गई। जिसकी शिकायत शिकायकर्ता ने विजिलेंस की टीम से की। कार्यवाही करते हुए देहरादून से गई टीम ने बालावाली तिराहे से संग्रह अमीन रवि पाल व उसके अनुसेवक पदम प्रकाश को 10 हजार की रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार कर किया है। दोनों आरोपियों से पूछतछ की जा रही है

Advertisement