जानिए नौवीं में पढ़ने वाले 13 साल के बच्चे तक उत्तराखंड के पिथौरागढ़ कैसे पहुंची पुलिस?

खबर शेयर करें -



पिथौरागढ़/दिल्ली। गत सोमवार 17 जून को दिल्ली से दुबई जाने वाली फ्लाइट में बम होने का मेल करने वाले शख्स का दिल्ली पुलिस ने पता लगा लिया है। पुलिस ने इस मामले में उत्तराखंड के पिथौरागढ़ जिले के रहने वाले 9वीं क्लास के नाबालिग को हिरासत में लिया। बच्चे ने पुलिस को बताया कि उसने ये मेल सिर्फ मजाक के तौर पर किया था।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार दिल्ली पुलिस को पूछताछ के दौरान 9वीं क्लास में पढ़ने वाले नाबालिग ने बताया कि पिछले दिनों उसने सोशल मीडिया में कहीं पढ़ा था कि एक बच्चे ने बम की झूठी जानकारी मेल की थी। इसके बाद उसने भी ऐसा करने का प्लान बनाया। बच्चे ने एक फेक ई-मेल आईडी बनाई। उसके बाद उसने इंटरनेट पर रिसर्च कर बम की धमकी देने वाला मैसेज तैयार किया और उसे दिल्ली एयरपोर्ट अथॉरिटी को भेज दिया। फिर बाद में उसने धमकी देने वाले ई-मेल आईडी को डिलीट कर दिया, ताकि किसी को कुछ भी पता न चले। लेकिन जांच में हुए इस खुलासे में पुलिस भी दंग रह गई। हालांकि, पुलिस ने बच्चे की काउंसलिंग करने के बाद उसे उसके माता-पिता के हवाले कर दिया गया। मीडिया रिपोर्ट में एसपी पिथौरागढ़ रेखा यादव के हवाले से कहा गया है कि दिल्ली पुलिस ने इस मामले में मुकदमा दर्ज किया था। इसके बाद दिल्ली पुलिस जांच पड़ताल करते हुए पिथौरागढ़ पहुंची थी। जहां लोकल थाने को इसकी सूचना दी और बच्चे को अपने साथ ले गई। इसके बाद पूरे मामले की आगे की कार्रवाई दिल्ली पुलिस द्वारा की गई है।

यह भी पढ़ें -  दो लड़कों में हुआ प्यार, एक ने लड़की बनने के लिए खर्च किए इतने लाख, मिला धोखा तो कर कर डाला ये कांड, देखे रिपोर्ट

दिल्ली पुलिस के मुताबिक, 17 जून को दिल्‍ली के आईजीआई एयरपोर्ट के डायल कार्यालय को एक ईमेल मिला था। ईमेल में लिखा था कि दिल्ली से दुबई जाने वाली फ्लाइट में बम रखा हुआ है। यह मेल मिलते ही तुरंत दिल्ली पुलिस को इसकी जानकारी दी गई, जिसके बाद सुरक्षा के पूरे इंतजाम किए गए। फ्लाइट की पूरी जांच की गई और जांच के बाद ही फ्लाइट को भेजा गया।

यह भी पढ़ें -  टनकपुर पुलिस की तत्परता से कुछ ही घंटो के भीतर बुजुर्ग महिला से धोखे से की गयी ठगी की वारदात का हुआ पर्दाफाश,यूपी से पकड़े गए शातिर ठग

इस तरह पिथौरागढ़ पहुंची पुलिस ने बताया कि जांच के दौरान पता चला कि जिस मेल आईडी से यह मेल किया गया था, वह ईमेल आईडी मेल भेजने के कुछ देर पहले ही बनाई गई थी और मेल भेजने के बाद उस आईडी को डिलीट कर दिया गया। टेक्निकल एविडेंस के आधार पर पुलिस की टीम पिथौरागढ़ पहुंची। पुलिस को जांच में पता चला कि ईमेल को नवीं क्लास में पढ़ने वाले 13 साल के एक छात्र ने सिर्फ मौज-मस्‍ती के लिए भेजा था

Advertisement