तड़पता रहा पर नहीं मिला बेड, PGI में बीजेपी के पूर्व MP के बेटे की दर्दनाक मौत

खबर शेयर करें -

उत्तर प्रदेश में बीजेपी नेता नेता और पूर्व सांसद भैरो प्रसाद मिश्रा के बेटे की लखनऊ पीजीआई में मौत हो गई है. आरोप है कि इस अस्पताल में उनके बेटे प्रकाश मिश्रा को इलाज तो दूर, भर्ती करने के लिए बेड तक नहीं मिला.पूर्व सांसद के बेटे को किडनी की बीमारी थी.

खुद पूर्व सांसद ने अस्पताल प्रबंधन पर लापरवाही बरतने का आरोप लगाया. कहा कि इमरजेंसी में बेड खाली नहीं होने की बात कह कर उनके बेटे को भर्ती नहीं किया गया.

यह भी पढ़ें -  भविष्य में ऐसी बना रहेगा सभी का आशीर्वाद, मालिकाना हक के कागज घर-घर जाकर दूंगा-सुमित

जानकारी के मुताबिक लंबे समय से किडनी की बीमारी से ग्रसित प्रकाश मिश्रा की हालत रविवार को खराब हो गई थी. ऐसे में पूर्व सांसद उन्हें लेकर पीजीआई पहुंचे और डॉक्टरों से तुरंत भर्ती कर इलाज शुरू करने का आग्रह किया. वह बेटे को स्ट्रेचर पर लिटा कर डॉक्टरों के आगे उसे भर्ती करने के लिए गिड़गिड़ाते रहे. डेढ़ घंटे तक उन्होंने अपनी पूरी ताकत लगा दी, लेकिन वह बेटे को अस्पताल में भर्ती नहीं करा पाए.

यह भी पढ़ें -  उत्तराखंड पुलिस से आज की सबसे बड़ी खबर, राज्य कैबिनेट ने ले लिया बड़ा फैसला

अस्पताल के डॉक्टरों ने उन्हें साफ तौर पर कह दिया कि बेड नहीं है. इसलिए उनके बेटे को भर्ती नहीं किया जा सकता. इस बात को लेकर अभी डॉक्टर और पूर्व सांसद के बीच बहस चल ही रही थी कि प्रकाश मिश्रा ने दम तोड़ दिया.इधर, बेटे की मौत के बाद पूर्व सांसद का पारा गर्म हो गया. वह अस्पताल प्रबंधन और यहां तैनात डॉक्टरों पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए वहीं अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड में ही धरने पर बैठ गए.

यह भी पढ़ें -  ऐसे जरूर सुधर जाएगी पहाड़ के अस्‍पतालों का स्‍वास्‍थ्‍य

इसके बाद मौके पर हंगामा मच गया. आनन फानन में पीजीआई के डायरेक्टर आरके धीमान भी मौके पर पहुंचे और मामले की जांच के आदेश दिए. उन्होंने बताया कि इसके लिए टीम गठित की गई है. इस जांच कमेटी में पीजीआई के डॉक्टर संजय राज, डीके पालीवाल और आरके सिंह को शामिल किया गया है. तीन सदस्यीय टीम जांच कर आज रिपोर्ट देगी. इस रिपोर्ट के आधार पर मामले में आगे की कार्रवाई होगी.

Advertisement