पतंजलि सोन पापड़ी के सैंपल फेल,मैनेजर, डिस्ट्रीब्यूटर व दुकानदार को छह-छह माह की सजा

खबर शेयर करें -



पिथौरागढ़। पिथौरागढ़ के बेरीनाग स्थित एक दुकान से करीब पांच साल पूर्व पतंजलि नवरत्न इलाइची सोन पापड़ी के सैंपल फेल होने पर मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट संजय सिंह की अदालत ने शनिवार को पतंजलि आयुर्वेद लिमिटेड के असिस्टेंट जनरल मैनेजर अभिषेक कुमार, कान्हाजी डिस्ट्रिब्यूटर्स प्राइवेट लिमिटेड रामनगर के असिस्टेंट मैनेजर अजय जोशी और दुकानदार लीलाधर पाठक को 6 माह के कारावास और अर्थदंड से दंडित किया है।
17 सितंबर 2019 को खाद्य सुरक्षा अधिकारी ने बेरीनाग स्थित लीलाधर पाठक की दुकान से पतंजलि नवरत्न इलाइची सोन पापड़ी के सैंपल लिये थे। जिसे जांच के लिए रुद्रपुर स्थित राज्य खाद्य एवं औषधि विश्लेषणशाला को भेजा गया था। इसमें सोन पापड़ी के सैंपल अधोमानक पाए गए। इसके बाद जिला खाद्य सुरक्षा अधिकारी ने उसी दुकान में जाकर चार पैकेट खरीदे और सीलबंद पैकेट देकर किसी प्रत्यायित लैब से जांच करने को कहा। दुकानदार के इनकार करने पर उन्होंने पतंजलि आयुर्वेद लिमिटेड, कान्हा जी डिस्ट्रीब्यूटर्स प्राइवेट लिमिटेड, दुकानदार को नोटिस दिए। 8 दिसंबर को 2020 को पतंजलि आयुर्वेद लिमिटेड के प्रतिनिधि ने अपील कर राष्ट्रीय खाद्य प्रयोगशाला में जांच करने की बात कही। गाजियाबाद स्थित लैब में भी सोन पापड़ी के सैंपल अधोमानक पाए गए। मामले में यहां मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट संजय सिंह की अदालत ने सभी पक्षों को सुनने के बाद आदेश जारी किया। उन्होंने दुकानदार लीलाधर पाठक को 6 माह के कारावास और 5 हजार रुपये के अर्थदंड की सजा सुनाई है। अर्थदंड की धनराशि अदा न करने पर 7 दिन के अतिरिक्त कारावास की सजा भुगतनी होगी। कान्हाजी डिस्ट्रिब्यूटर्स प्राइवेट लिमिटेड के असिस्टेंट मैनेजर अजय जोशी को 6 माह के कैद सुनाई है। उन्हें 10 हजार रुपये का अर्थदंड भी देना होगा। पतंजलि आयुर्वेद लिमिटेड यूनिट तृतीय पतंजलि फूड एंड हर्बल पार्क, लक्सर के असिस्टेंट जनरल मैनेजर अभिषेक कुमार को 6 माह के कारावास की सजा के साथ 25 हजार रुपये अर्थदंड देना होगा। पैरवी सहायक अभियोजन अधिकारी रितेश वर्मा ने की।

Advertisement