राजकीय शिक्षक संघ ने प्रदेशभर में की तालाबंदी, सरकार कर सकती है सख्त कार्रवाई

खबर शेयर करें -

उत्तराखंड माध्यमिक शिक्षा निदेशालय में आज काम काज ठप कर दिया है। राजकीय शिक्षक संघ ने शिक्षा निदेशालय के चारों गेटों पर तालाबंदी कर दी है।


राजकीय शिक्षक संघ ने प्रदेशभर में की तालाबंदी
अपनी मांगों को लेकर राजकीय शिक्षक संघ ने आज निदेशालय में कामकाज ठप कर दिया है। राजकीय शिक्षक संघ ने निदेशालय के चारों गेटों पर ताले लगा दिए हैं। बता दें कि शिक्षक लंबे समय से अपनी मांगों को लेकर आंदोलन कर रहे हैं। मांगे पूरी ना होने पर शिक्षकों ने छह नवंबर को तालाबंदी की चेतावनी दी थी।

यह भी पढ़ें -  खुले सरकारी स्कूल व डिग्री कालेज, पहले दिन 50 फीसदी बच्चे पहुंचे स्कूल

शिक्षा निदेशक द्वारा बात करने पर भी नहीं खुले ताले
राजकीय शिक्षक संघ से शिक्षा निदेशक सीमा जौनसारी के द्वारा बातचीत की गई। लेकिन इसके बावजूद शिक्षकों ने ताले नहीं खोले। अधिकारी अपने दफ्तरों में नहीं पहुंचे। बता दें कि शिक्षकों ने सुबह आठ बजे से ही निदेशालय में तालाबंदी कर दी है।

12 बजे सामूहिक रूप से मतदान बहिष्कार की लेंगे शपथ
12 बजे शिक्षक सामूहिक रूप से लोकसभा चुनाव में मतदान न करने को लेकर सामूहिक शपथ लेंगे। बात दें कि शिक्षकों ने पहले ही मतदान बहिष्कार का ऐलान कर दिया था। शिक्षकों ने अपने परिवार और रिश्तेदारों के साथ मतदान ना करने का ऐलान किया था।

यह भी पढ़ें -  चलोमी में दर्दनाक हादसा, लकड़ी का पुल पार करते वक्त फिसला मां-बेटे का पैर, मां की मौत, बेटा लापता

सरकार कर सकती है सख्त कार्रवाई


जहां एक ओर शिक्षक संघ ने शिक्षा निदेशालय में तालाबंदी कर दी हो तो वहीं दूसरी ओर सरकार इस पर कोई बड़ी कार्रवाई कर सकती है। बता दें कि तीन नवंबर को सरकार ने तालाबंदी को रोकने के लिए आदेश जारी किए थे। जिसमें कहा गया था कि निदेशालय में जबरन तालाबंदी नहीं होने दी जाए।

Advertisement