लोहाघाट मे स्वच्छ भारत मिशन की उड़ी धज्जियां, साफ-सुथरे स्थान को बना दिया कूड़ेदान

खबर शेयर करें -

एक ओर जहां भारत सरकार के द्वारा स्वच्छ भारत मिशन चलाया जा रहा है और लोगों को कार्यक्रमों के माध्यम से स्वच्छता के लिए प्रेरित किया जा रहा है। तो वहीं दूसरी ओर जिला पंचायत चंपावत स्वच्छ भारत मिशन की धज्जियां उड़ाता नजर आ रहा है।

साफ-सुथरे स्थान को बना दिया कूड़ेदान
चंपावत में स्वच्छ भारत मिशन का पलीता लग रहा है। लोहाघाट के राजकीय पॉलिटेक्निक कॉलेज के सामने लोगों के द्वारा सड़क किनारे साफ स्थान पर कूड़ा फेंक कर वहां पर कूड़े का ढेर बना दिया गया है। जिस कारण पर्यावरण प्रेमियों में काफी आक्रोश है। कूड़े के ढेर के कारण आस-पास के लोगों को भी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।

यह भी पढ़ें -  महाशिवरात्रि स्नान को लेकर केंद्र और राज्य सरकार की ओर से जारी एसओपी के गाइडलाइंस का श्रद्धालुओं को हर हाल में पालन करना जरूरी

गंदगी फैलने के साथ ही बढ़ गया है बंदरों का आतंक
पाटन ग्राम की प्रभा पाटनी ने बताया जिला पंचायत चंपावत के द्वारा पॉलिटेक्निक के पास कूड़ेदान रखवा दिए गए हैं। जिस कारण लोगों ने इस साफ-सुथरे स्थान पर कूड़ा फेंकना शुरू कर दिया है। उनका कहना है कि लोग कूड़ेदान में कूड़ा ना फेंक कर सड़क किनारे कूड़ा फेंक रहे हैं। जिस कारण क्षेत्र में गंदगी फैलने के साथ ही बंदरों का आतंक भी बढ़ता जा रहा है।

यह भी पढ़ें -  नशे में लिप्त 12 साल के बच्चे को रेस्क्यू

कूड़े के निस्तारण के लिए नहीं है व्यवस्था
प्रभा पाटनी का कहना है कि जिला पंचायत ने कूड़ादान तो रखवा दिया लेकिन कूड़ा निस्तारण की कोई व्यवस्था नहीं की गई है। जबकि पाटन ग्राम सभा के द्वारा हर घर से कूड़ा उठाने के लिए वाहन लगाया गया है। लोगों ने कहा कि जिला पंचायत के द्वारा इस स्वच्छ स्थान को कूड़ा घर बना दिया गया है।

यह भी पढ़ें -  पूरी लय में दिखे हरीश रावत,हल्दूचौड़ में कांग्रेस चुनाव कार्यालय का हुआ उद्घाटन

लोगों ने की कूड़ेदान को हटवाने की मांग
स्थानीय लोगों ने जिला पंचायत से इस स्थान से कूड़ेदान को तुरंत हटाने की मांग की है। लोगों का कहना है कि बड़ी मुश्किल से इस जगह को कूड़ा मुक्त किया गया था लेकिन एक बार फिर से जिला पंचायत के कारनामे से क्षेत्र में गंदगी का ढेर लगने लगा है। लोगों ने प्रशासन से जिला पंचायत के अधिकारियों पर कार्यवाई करने और इस स्थान से कूड़ेदान को हटवाने की मांग की है

Advertisement