चीला रेंज हादसे में लापता महिला वार्डन का शव बरामद.

खबर शेयर करें -

उत्तराखंड में ऋषिकेश की चीला रेंज में नए वाहन के ट्रायल के दौरान हुए हादसे में लापता हुई महिला वार्डन का शव आज गुरुवार सुबह नहर का पानी कम होने पर मिल गई है। वाहन ट्रायल के दौरान दुर्घटना में सोमवार को दो वन क्षेत्राधिकारियों सहित चार की मौके पर ही मौत हो गई थी और महिला अधिकारी आलोकि तब से लापता चल रही थी। एसडीआरएफ लगातार गहन सर्च अभियान चलाए हुए थी आज चौथे दिन सुबह करीब 7:15 बजे शव दिखने के बाद एसडीआरएफ ने बाहर निकालकर स्थानीय पुलिस को सौंप दिया है।

सोमवार सायं चीला दुर्घटना में लापता हुई वार्डन आलोकि का शव आज शक्ति नहर से मिल गया है।
मौके पर मौजूद निरीक्षक कवींद्र सजवाण द्वारा बताया गया कि बरामद शव की शिनाख्त घटना में लापता महिला अधिकारी के रूप में हो गयी है। एसडीआरएफ द्वारा बरामद शव को अग्रिम कार्यवाही हेतु जिला पुलिस के सुपुर्द कर दिया गया है।

यह भी पढ़ें -  वाहन संचालकों को ग्रीन कार्ड के साथ यह कार्ड बनवाना भी अनिवार्य, नियम एवं शर्तें जारी


एसडीआरएफ द्वारा सोमवार से ही लापता अधिकारी की तलाश में निरन्तर गहन सर्च आपरेशन चलाया जा रहा था।जहां एक ओर एसडीआरएफ द्वारा अत्याधुनिक खोजी उपकरण जैसे सोनार एवम अंडरवाटर ड्रोन के माध्यम से गहन सर्चिंग की जा रही थी। वहीं दूसरी ओर डीप डाइवर्स द्वारा स्कूबा डाइविंग करते हुए नहर की तल तक गहराइयों में खोजबीन जारी रखी गयी थी।

दूसरी तरफ वाहन कंपनी और चालक पर मुकदमा दर्ज किया गया है।वन क्षेत्राधिकारी गौहरी रेंज राजाजी टाइगर रिजर्व राजेश चंद्र

जोशी की लिखित तहरीर पर थाना लक्ष्मण झूला में आसका व प्रवेग कंपनी के प्रबंधक व चालक अश्वनी बीजो के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया। वहीं, वार्डन की तलाश में एसडीआरएफ की टीम लगातार सर्च ऑपरेशन चला रही थी।

यह भी पढ़ें -  जिस पत्नी को पुलिस में नौकरी दिलाने के लिए पति ने खून पसीना एक कर दिया,नौकरी लगते ही किसी और से रचा रही थी शादी

..
आपको बताते चलें कि राजाजी प्रशासन को ये वाहन पेट्रोलिंग व जानवरों के रेस्क्यू के लिए मिला था। ट्रायल के लिए वाहन में वन्य जीव प्रतिपालक आलोकी, वन क्षेत्राधिकारी शैलेश घिल्डियाल, उपवन क्षेत्राधिकारी प्रमोद ध्यानी, चिकित्सक राकेश नौटियाल के अलावा कुलराज सिंह, हिमांशु गोसाई, सैफ अली खान, अंकुश, अमित सेमवाल व अश्विन बीजू सवार थे। वाहन चीला से ऋषिकेश की ओर जा रहा था।

चीला विद्युत गृह से कुछ आगे अचानक अनियंत्रित होकर पेड़ से टकराया और बाद में चीला शक्ति नहर के पैराफिट से जा टकराया। दुर्घटना में कुछ लोग छिटक कर खाई में जा गिरे। वहीं वाहन में सवार वन्य जीव प्रतिपालक आलोकी नहर में जा गिरीं। वाहन के पीछे चल रहे एक अन्य वाहन में सवार लोगों ने इसकी सूचना पुलिस व पार्क प्रशासन को दी। साथ ही रेस्क्यू भी शुरू किया।

यह भी पढ़ें -  बरेलीरोड क्षेत्र के इस गांव में 60 बीघा भूमि को लेकर भिड़े कई दिग्गज…………… हो रहा जबरदस्त विवाद…

.
मौके पर पहुंची पुलिस व वन विभाग के कर्मचारियों ने घायलों को खाई से निकाल कर उपचार के लिए एम्स पहुंचाया। वहां चिकित्सकों ने शैलेश घिल्डियाल (रेंज अधिकारी), प्रमोद ध्यानी (डिप्टी रेंजर), सैफ अली खान पुत्र खलील उल रहमान, कुलराज सिंह को मृत घोषित कर दिया। वहीं, हिमांशु गोसाई पुत्र गोविंद सिंह (वाहन चालक), राकेश नौटियाल, अंकुश, अमित सेमवाल (चालक), अश्विन बिजू (24 वर्ष) (चालक) घायल हैं।

Advertisement