लिव इन में रह रही प्रेमिका की हत्या कर शव सूटकेश में बंद कर हाईवे किराने खाई में फेंका

खबर शेयर करें -


देहरादून। लिव इन में रह रही प्रेमिका की हत्या कर प्रेमी ने शव सूटकेस में बंद कर दून-दिल्ली हाईवे किनारे खाई में फेंक दिया। हत्या के 95 दिन बाद पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार करते हुए सूटकेस में युवती का सड़ागला कंकाल बरामद किया है। आरोपी ने पूछताछ में कहा कि प्रेमिका काम ने नाम पर रात-रात भर गायब रहती थी। इसलिए उसे यह कदम उठाया।

एसएसपी अजय सिंह ने रविवार दोपहर अपने कार्यालय में प्रेसवार्ता कर घटना खुलासे की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि हरिद्वार के कनखल थाना क्षेत्र निवासी महिला ने बीते 29 जनवरी को अपनी 24 वर्षीय बेटी के लापता होने की रिपोर्ट दर्ज करायी। कहा कि वह पटेलनगर की संस्कृति विहार कॉलोनी में रहकर ब्यूटी पार्लर का काम करती थी। बताया कि बीते 26 दिसंबर से बेटी का कुछ अतापता नहीं है। पुलिस ने गुमशुदगी दर्ज कर युवती की तलाश शुरू की। इस दौरान पता लगा कि वह संस्कृति लोक कॉलोनी में राशिद नाम के युवक के साथ लिवइन में रहती थी। मृतका की सीडीआर और अन्य साक्ष्यों से पुलिस ने आरोपी की पहचान की। इस दौरान पता लगा कि राशिद उम्र 23 वर्ष पुत्र मुर्सलीन बागोवाली थाना नई मंडी जिला मुजफ्फरनगर का रहने वाला है। वहां दबिश दी तो वह गायब मिला। पुलिस ने इस दौरान आरोपी के आईएसबीटी पर लिए गए कमरे की निगरानी शुरू कर दी गई। शनिवार को पता लगा कि आरोपी अपने कमरे से सामान उठाने के लिए पहुंचा है। इस दौरान आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया।

यह भी पढ़ें -  गन्ने की ओवरलोड ट्रैक्टर ट्रॉली बनी काल,मौत


पूछताछ की गई तो उसने हत्याकांड की पूरी कहानी पुलिस को बताई। उसकी निशानदेही पर आशारोड़ी से सहानपुर की ओर करीब छह किलोमीटर आगे सड़क किनारे खाई से एक सूटकेस बरामद किया गया। उसमें युवती का सड़गला कंकाल मिला। आरोपी को पूछताछ के बाद पुलिस ने रविवार को ड्यूटी मजिस्ट्रेट के समक्ष कोर्ट में पेश किया। कोर्ट से आरोपी को न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेज दिया गया। खुलासा करने वाली टीम में इंस्पेक्टर पटेलनगर केके लुंठी, एसएसआई मनमोहन नेगी, आईएसबीटी चौकी इंचार्ज विजय प्रताप राही, दरोगा सीमा ठाकुर, हेड कांस्टेबल अनूप मिश्रा, कांस्टेबल हितेश, पंकज मलासी शामिल रहे

Advertisement