एक देश में दो कानून नहीं हो सकते’, प्रवीण तोगड़िया ने यूसीसी के लिए उत्तराखंड सरकार का दिया धन्यवाद

खबर शेयर करें -

हल्द्वानी : अंतरराष्ट्रीय हिंदू परिषद के अध्यक्ष डा. प्रवीण तोगड़िया ने कहा कि समान संहिता (यूसीसी) विधेयक के लिए उत्तराखंड सरकार को धन्यवाद। एक देश में दो कानून नहीं हो सकते। मजहब के आधार पर अलग-अलग कानून भारत में दूसरा पाकिस्तान बनाने जैसा है।

उन्होंने कहा कि यूसीसी लागू होने पर यह सुनिश्चित हो जाएगा कि भविष्य में कोई दूसरा पाकिस्तान खड़ा नहीं होगा। उन्होंने राम मंदिर निर्माण को लेकर कहा कि यह बाबर की छाती पर भगवा लहराने जैसा है।

यह भी पढ़ें -  ट्रक से टकराई बाइक, दो युवकों की मौत, गांव के लोगों ने शवों को सड़क पर रखकर किया हंगामा

राम मंदिर को लेकर डा. तोगड़िया ने कही ये बात
डा. तोगड़िया मंगलवार को रामपुर रोड स्थित बैंक्वेट हॉल में आयोजित राममंदिर विजयोत्सव कार्यक्रम में पहुंचे। इस दौरान पत्रकारों से वार्ता करते हुए कहा कि अयोध्या में राम मंदिर निर्माण को लेकर हर वर्ष सपने देखते रहे। खून की होली भी हम खेलते रहे, लेकिन मंदिर बनाने की जिद नहीं छोड़ी। बाबर की छाती पर भगवा ध्वज लहराने के लिए पूरा देश एक साथ लड़ा। इसके लिए हिंदू समाज, आठ लाख कार सेवकों, एक लाख संतों व 500 वर्ष संघर्ष करने वाली 25 पीढ़ियों को धन्यवाद।

यह भी पढ़ें -  सामाजिक कार्यकर्ता संजय पांडे ने अल्मोड़ा मेडिकल कॉलेज के महानिदेशक चिकित्सा प्रो आशुतोष सयाना से मिलकर समस्याओं का समाधान करने की मांग

1984 में राम मंदिर का ताला खोला
डा. तोगड़िया ने कहा कि वर्ष 1984 में हमने मंदिर निर्माण को लेकर मास्टर स्ट्रेटेजी बनाकर एक आधुनिक आंदोलन ‘ताला खोलो या ताला तोड़ो’ शुरू किया। 1986 में ताला खुलवाकर राम मंदिर निर्माण की योजना तैयार की। 1989 में बाबर मस्जिद के आसपास छोटे-छोटे टुकड़ों में ढाई एकड़ जमीन खरीद ली गई। उसके बाद 240 फीट का राम मंदिर मॉडल रखकर धर्म संसद बुलाई गई। नौ नवंबर 1989 में राम मंदिर का भूमि पूजन किया। मंदिर निर्माण को लेकर 40 वर्षों में हिंदू शेरों को बार-बार जगाया। 2018 में अयोध्या में घुसे और बाबर के ढांचे में राम मंदिर बना दिया।

Advertisement