मेरे बच्चों को क्यों मारा गया -हत्या का मकसद पता नहीं चलने से आहत पिता ने की खुदकुशी की कोशिश

खबर शेयर करें -


बदायूं में मृतक नाबालिग बच्चों के पिता विनोद कुमार ने रविवार को आत्मदाह की कोशिश की। 19 मार्च को नाई (हज्जाम) साजिद ने विनोद कुमार के दो नाबालिग बच्चों की बेरहमी से हत्या कर दी थी। आत्महत्या की कोशिश कर रहे विनोद कुमार को पुलिस ने समय रहते बचा लिया।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, विनोद कुमार ने कहा कि वह परेशान हैं क्योंकि पुलिस उनके बेटों की हत्या के पीछे के मकसद का पता लगाने में नाकाम रही है। उन्होंने कहा, मुझे आरोपी के एनकाउंटर या दूसरे आरोपी की गिरफ्तारी से कोई मतलब नहीं है। मैं बस यह जानना चाहता हूं कि मेरे बच्चों को क्यों मारा गया।

यह भी पढ़ें -  ब्रेकिंग न्यूज़ -1 जून तक बढ़ा उत्तराखंड में कोरोना कर्फ्यू

पुलिस विनोद कुमार को समझाने की कोशिश कर रही है। पुलिस ने मुख्य आरोपी साजिद को मंगलवार को घटना के दो घंटे के भीतर एनकाउंटर में मार गिराया था। जबकि साजिद के भाई जावेद को पुलिस ने गुरुवार को बरेली से गिरफ्तार किया। वह बदायूं दोहरे हत्याकांड का दूसरा आरोपी है।

साजिद ने हाल ही में इलाके में नाई की दुकान खोली थी। उसने कथित तौर पर तीन भाइयों आयुष (12), हनी (8) और पीयूष (10) पर चाकू से हमला किया। हमले में आयुष और अहान की मौत हो गई, जबकि पीयूष को गंभीर घावों के साथ अस्पताल ले जाया गया

Advertisement