बिल्डर साहनी आत्महत्या मामले में अपडेट-कई कंपनियों को भेजा जा रहा कारण बताओ नोटिस

खबर शेयर करें -



सत्येंद्र साहनी आत्महत्या मामले में नया मोड़ सामने आया है। इस मामले में कई फर्मों द्वारा करोड़ों का ट्रांजेक्शन बिना अनुबंध के किया जाना आया प्रकाश में आया है। जिसके बाद कई कंपनियों को कारण बताओ नोटिस भेजा जा रहा है।


बिल्डर साहनी आत्महत्या मामले में आया नया मोड़
सत्येंद्र साहनी आत्महत्या मामले में अनिल कुमार गुप्ता व अजय कुमार गुप्ता के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। इस मामले की छानबीन में सामने आया है कि सत्येंद्र साहनी( मृतक) की कंपनियों में कई फर्मों द्वारा करोड़ों का ट्रांजेक्शन बिना अनुबंध किया गया है। पांच कंपनियों व एक व्यक्ति को पुलिस द्वारा कारण बताओ नोटिस भेजा जा रहा है।

यह भी पढ़ें -  आंगनबाड़ी सहायिका के पांच हजार पद भरे जाएंगे

कई कंपनियों को भेजा जा रहा कारण बताओ नोटिस
मामले की छानबीन में सामने आया है कि अवनी परिधि एनर्जी कम्युनिकेंट कंपनी, विजेता वेबरेजर्स कंपनी, सुरपाल पब्लिसिटी प्राइवेट लिमिटेड कंपनी, इनवी होल्डिंग प्राइवेट लिमिटेड कंपनी, अर्जुन सिंह जोहाल कंपनी व NV डिजिटलरीज एंड और ब्रीफेरिस प्राइवेट लिमिटेड कंपनी से मृतक सतेन्द्र सिंह साहनी की कंपनी साहनी स्ट्रक्चर्स एलएलपी व साहनी इंफ्रा एलएलपी में प्रोजेक्ट के लिए 30 करोड़ 95 लाख रूपए का ट्रांजैक्शन हुआ है। जबकि इन कंपनियों का मृतक के साथ प्रोजेक्ट डील में किसी भी प्रकार से कोई भी अनुबंध नहीं है। जिस संबंध में उक्त कंपनियों को इन ट्रांजेक्शन के संबंध में विवरण प्राप्त किए जाने के लिए अब इन्हें नोटिस भेजे जा है।

यह भी पढ़ें -  शुभ मुहूर्त के बीच बाबा केदारनाथ ने दिए दर्शन

ये है पूरा मामला
बता दें 24 मई को देहरादून के नामी बिल्डर सतेंद्र सिंह साहनी ने सातवीं मंजिल से कूदकर आत्महत्या कर ली थी। साहनी के पास से मिले सुसाइड नोट में गुप्ता बंधुओं में से एक अजय गुप्ता और उसके बहनोई अनिल गुप्ता का नाम सामने आया था। जिसके बाद पुलिस ने दोनों को गिरफ्तार कर कर 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया था।

यह भी पढ़ें -  पर्वतीय जिलों में आज बारिश-बर्फबारी के आसार

साहनी ने सुसाइड नोट में आरोप लगाए थे कि उन्होंने कांप्लेक्स के निर्माण के लिए अनिल गुप्ता से साझेदारी की थी। लेकिन इस बीच अजय गुप्ता ने दखलअंदाजी करते हुए उन पर पूरा प्रोजेक्ट अपने नाम कराने का दबाव बनाने लगा। बिल्डर साहनी के आत्महत्या के बाद सामने आया की सुसाइड से पहले 16 मई को उन्होंने पुलिस को शिकायती प्रार्थनापत्र दिया था।

Advertisement