किशोरी से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में चाचा-मामा समेत आधा दर्जन आरोपित गिरफ्तार

खबर शेयर करें -


, लक्सर : किशोरी के साथ सामूहिक दुष्कर्म के मामले में पुलिस ने मामले मे मुकदमा दर्ज करने वाले वादी किशोरी के रिश्ते के चाचा समेत आरोपित आधा दर्जन लोगों को गिरफ्तार किया है।

मामले में किशोरी के रिश्ते के चाचा ने अपने दो साथियों के साथ मिलकर कुछ बेकसूर लोगों को दुष्कर्म के झूठे मामले में फंसा कर पैसा कमाने की योजना बनाई थी। लेकिन पुलिस जांच में मामले का सच उजागर होने पर योजना परवान नहीं चढ़ सकी। आरोपितों को जेल भेज दिया गया है।
मानसिक रूप से पीड़ित थी किशोरी की मां
रुड़की क्षेत्र के कान्हापुर निवासी फारूक ने दो दिन पूर्व किशोरी के साथ लक्सर कोतवाली पहुंचकर पुलिस को तहरीर देकर बताया गया था कि किशोरी उसकी भतीजी है। जो लक्सर क्षेत्र के एक गांव में अपने रिश्ते के मामा नसीम उर्फ कल्लू के पास रहती थी। किशोरी की मां मानसिक रूप से पीड़ित होने के चलते वह इधर-उधर भटकती रहती है।

यह भी पढ़ें -  सरकार ने अदाणी समूह से पूर्व निर्धारित दर 2.83 रूपए के बजाए 8.83 रूपए प्रति यूनिट बिजली खरीदी, ऊर्जा मंत्री ने किया स्वीकार

रिश्ते का मामा नसीम को इस बात की जानकारी थी कि किशोरी के आगे पीछे कोई नहीं है। जिस पर उसने अपने साथियों अब्दुल रहमान, मुनीश आदि के साथ लम्बे समय तक किशोरी का शारीरिक शोषण करता रहा। जिसके चलते इसी बीच किशोरी घर छोड़ कर चली गई तथा वह रिश्ते का चाचा फारूक के हत्थे चढ़ गई

आरोपितों को सजा दिलाने का आश्वासन देते देकर फारूक किशोरी को अपने विश्वास में लेकर अपने साथ ले गया। फारूक द्वारा अपने साथियों गुलशाद, अहसान एवं नफीस के साथ मिलकर फायदा उठाने की योजना बनाई।

पुरानी रंजिश के तहत किशोरी को फंसाया
फारूक और उसके साथियों ने अपने पुराने मामले में रंजिश के तहत विपक्षियों को फंसाने के लिए किशोरी को अपने जाल में फंसा लिया तथा षड्यंत्र के तहत किशोरी को उनके खिलाफ बोलने के लिए तैयार कर लिया गया।

यह भी पढ़ें -  भारी मात्रा में बन रही अवैध कच्ची शराब की भट्टी को ध्वस्त कर बड़ी कारवाही की आबकारी निरीक्षक सोनू सिंह ने

योजना के तहत 18 फरवरी को फारूक द्वारा नसीम उर्फ कल्लू ,अब्दुल रहमान, मुनीश, फरमान, अरशद, इस्लाम साजिद व अहसान आठ लोगों के खिलाफ नामजद दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज कराया गया।

दुष्कर्म के झूठे मुकदमे में फंसा रुपये ऐंठने की थी योजना
आरोपित फारूक द्वारा बेगुनाह लोगों को दुष्कर्म के झूठे मुकदमे में फंसाकर उनसे मोटी रकम ऐठने की योजना बनाई थी। लेकिन पुलिस द्वारा गहनता से मामले की गई जांच में फारूक की योजना धरी की धरी रह गयी। तथा उसकी योजना का सच उजागर हो गया। जिस पर पुलिस द्वारा मामले में मुकदमा दर्ज करने वाले वादी किशोरी के रिश्ते के चाचा फारूक निवासी कान्हापुर रुड़की उसके साथी गुलशाद व अहसान को षड्यंत्र रचने तथा तथा मामले में आरोपित नसीम उर्फ कल्लू, अब्दुल रहमान व मनीष निवासी जैनपुर कोतवाली लक्सर को दुष्कर्म के आरोप में गिरफ्तार कर लिया गया है।

यह भी पढ़ें -  उत्तराखंड - कार खाई में गिरने से एक की मौत 4 घायल

इस बीच पुलिस द्वारा किशोरी का मेडिकल परीक्षण कराये जाने के साथ ही कोर्ट में उसके बयान दर्ज कराए गए। कोतवाल राजीव रौथान ने बताया कि आरोपितों को न्यायालय में पेश किया गया जंहा से उन्हे जेल भेज दिया गया है। मामले की गहनता से जांच की जा रही है। अन्य जो भी आरोपित मामले में संलिपित होंगे। उन्हें गिरफ्तार कर जेल भेजा जाएगा।

पुलिस टीम में ये रहे शामिल
वरिष्ठ उप निरीक्षक मनोज गैरोला, महिला उप निरीक्षक गीता चौहान, उप निरीक्षक हरीश गैरोला व दीपक चौधरी कांस्टेबल शूरवीर सिंह, भूपेंद्र सिंह, संदीप आदि।

Advertisement