मां के अपमान का बदला खून से लिया, दोस्त पर कुल्हाड़ी से ताबड़तोड़ वार कर मौत के घाट उतारा

खबर शेयर करें -


, देहरादून : पुलिस ने ग्रामीण रमेश की हत्या का खुलासा कर दिया है। गांव के ही दोस्त ने मां की गाली देने पर रमेश की कुल्हाड़ी से हमला कर हत्या कर दी थी। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार किया है। साथ ही उसके पास से हत्या में प्रयुक्त कुल्हाड़ी बरामद की है। पुलिस ने आरोपी को कोर्ट में पेश कर जेल भेज दिया है।

रविवार को एसएसपी प्रमेंद्र डोबाल ने मंगलौर कोतवाली में प्रेसवार्ता कर बताया कि 30 जनवरी को मंगलौर क्षेत्र के गांव मोहम्मदपुर जट्ट में अकेले रहने वाले रमेश का शव नाले में खून से सना मिला था। मृतक के शरीर पर धारदार हथियार के कई निशान मिले थे। उसके कमरे में भी खून के धब्बे थे। पुलिस ने तहरीर के आधार पर हत्या का केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी थी। पुलिस ने मृतक के परिजनों और ग्रामीणों से तमाम बिंदुओं पर जानकारी ली।

यह भी पढ़ें -  प्रसिद्ध खाद्य मसालों पर सवाल उठने के बाद उत्तराखंड में होगी जांच, केंद्र के निर्देश पर 50 मेनुफेक्चरिंग यूनिट से लिए जाएंगे सैंपल

इस बीच पता चला कि गांव निवासी अंकित कुछ दिन पहले ही राजस्थान से घर लौटा था और घटना वाले दिन से ही फरार चल है। जांच में सामने आया कि रमेश को कबूतर पालने का शौक था और उसकी अंकित से दोस्ती थी। अंकित ने उसके कुछ कबूतरों को मार दिया था। इस पर उसका अंकित से विवाद हो गया था। एसएसपी ने बताया कि पुलिस ने अंकित की तलाश शुरू की। इस बीच शनिवार शाम पुलिस ने नारसन क्षेत्र से अंकित को गिरफ्तार कर लिया और गहनता से पूछताछ की।

यह भी पढ़ें -  देहरादून : नगर निगम कर्मचारी हड़ताल पर फैसला आज, वेतन हुआ जारी

शव नाले में ही फेंककर फरार
पूछताछ में उसने बताया कि रमेश और उसका विवाद हो गया था। इस पर उसने रमेश के कुछ कबूतर मार दिए थे। रमेश उसे आए दिन मां की गाली देता था। इसके चलते ही उसने कुल्हाड़ी से कई वार कर उसकी हत्या कर दी थी। हत्या के बाद वह उसके शव को गंगनहर में फेंकने जा रहा था लेकिन पकड़े जाने के डर से वह शव नाले में ही फेंककर फरार हो गया था। एसएसपी ने बताया कि आरोपी की निशानदेही पर हत्या में प्रयुक्त कुल्हाड़ी भी बरामद कर ली गई है। साथ ही आरोपी को कोर्ट में पेश कर जेल भेज दिया है। इस मौके पर एसपी देहात एसके सिंह आदि मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें -  गांव के ‘प्रधान जी’ इंटर कॉलेज में अतिथि शिक्षक भी बन गए, पढ़िए पूरी खबर

दोनों ही नहीं करते थे मोबाइल का प्रयोग
एसएसपी ने बताया कि मृतक रमेश और आरोपी अंकित दोनों ही मोबाइल का इस्तेमाल नहीं करते थे। ऐसे में हत्या का खुलासा करने में कठिनाई आ सकती थी लेकिन पुलिस ने अपनी पुरानी तकनीक यानी मुखबिर तंत्रों का प्रयोग किया और हत्यारे तक पहुंच गई।

नशे में हत्या को दिया अंजाम
पुलिस जांच में सामने आया कि आरोपी अंकित नशा भी करता है। आरोपी ने नशे की हालत में ही रमेश की कुल्हाड़ी से ताबड़तोड़ वार कर हत्या की है। जांच में सामने आया कि वह अक्सर गांव से बाहर ही रहता था। बीच-बीच में वह गांव आता-जाता रहता था।

Advertisement