रेसकोर्स में नाबालिग से दुष्कर्म के मामले में आयोग सख्त, DIG को दिए स्पष्ट जांच के निर्देश

खबर शेयर करें -

देहरादून :रेसकोर्स में नाबालिग की संदिग्ध अवस्था में मौत व सेलाकुई में नाबालिग से दोस्ती व दुष्कर्म के मामले का उत्तराखंड राज्य महिला आयोग ने संज्ञान लिया है। इस मामले में आयोग की अध्यक्ष कुसुम कंडवाल ने एसएसपी व डीआइजी से वार्ता कर जांच के निर्देश दिए हैं।

आयोग की अध्यक्ष ने बताया कि डीआइजी पी रेणुका से वार्ता के दौरान उन्होंने नाबालिग किशोरी की मौत के कारण की स्पष्ट जांच करने के निर्देश दिए हैं। इसके अलावा एसएसपी को भी कहा यदि नाबालिग ने यदि आत्महत्या नहीं की तो इसके कारणों की जांच कर आरोपितों के विरुद्ध सख्त कार्रवाई की जाए।

यह भी पढ़ें -  चारधाम यात्रा : तीर्थयात्रियों को करना होगा इंतजार, 31 मई तक नहीं होंगे ऑफलाइन रजिस्ट्रेशन

इसमें सभी तथ्यों की स्पष्ट जांच हो। साथ ही नाबालिग से इस प्रकार से अपने फ्लैट में नौकरी करवाने वालों व उसके माता पिता के विरुद्ध भी धाराओं में मामला लिखा जाए।

आयोग की अध्यक्ष ने सेलाकुई निवासी मुस्लिम युवक ने इंस्टाग्राम पर आठवीं कक्षा की किशोरी को दोस्ती की आड़ में बहला फुसला कर दुष्कर्म के मामले में एसओ सेलाकुई व एसएसपी देहरादून वार्ता कर आरोपितों के विरुद्ध सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए।

यह भी पढ़ें -  बड़ा सड़क हादसा: ट्रक और कार की टक्‍कर, 6 की मौत, जा रहे थे लड़की देखने

एसएसपी ने जानकारी देते हुए बताया कि मामले के आरोपित फरमान को पोक्सो के अंतर्गत गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है। इस मामले में पीड़िता ने अपने माता पिता के साथ सहित आयोग अध्यक्ष कुसुम कंडवाल से कार्यालय में मुलाकात की।

जिसमें उन्होंने बताया कि आरोपित उसे अपने परिचित आटो रिक्शा से एक कमरे में ले गया। जहां उसने दुष्कर्म किया। पीड़िता ने बताया कि वहीं एक महिला भी थी जो कि ठीक नही थी।

Advertisement