पिथौरागढ़ में हुई बर्फबारी, ओम पर्वत और आदिकैलाश में हुआ एक फुट से ज्यादा स्नोफॉल

खबर शेयर करें -

प्रदेश में मौसम का मिजाज बिगड़ा हुआ है। पहाड़ों से लेकर मैदानी इलाकों तक ठिठुरन बड़ गई है। लोग ठंड से बचने के लिए अलाव का सहारा ले रहे हैं। पिथौरागढ़ रविवार और सोमवार को जमकर बर्फबारी हुई। नाभीढांग और ओम पर्वत में एक फुट से ज्यादा स्नोफॉल हुआ।

पिथौरागढ़ में बर्फबारी के बाद चमक उठी पहाड़ियां
पिथौरागढ़ में उच्च हिमालयी क्षेत्रों में बर्फबारी और निचले क्षेत्रों में बारिश हुई। जिसके बाद आज मौसम खुला है। मौसम खुलने के बाद पहाड़ियां चांदी सी चमक उठी हैं। बर्फबारी और बारिश के बाद तापमान में गिरावट दर्ज की गई है। मुनस्यारी में अधिकतम तापमान 11 डिग्री और न्यूनतम तापमान तीन डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

यह भी पढ़ें -  चीला मार्ग में वार्डन की मौत का बड़ा अपडेट आया सामने, इस वजह से हुई थी मौत

om parvat
व्यास घाटी में एक हफ्ते में दूसरी बार हिमपात
पिथौरागढ़ जिले के धारचूला स्थित व्यास घाटी में एक हफ्ते में दूसरी बार बर्फबारी हुई है। बर्फबारी के होने से लोगों को सूखी ठंड से राहत मिली है। बता दें कि व्यास घाटी के सात गांव बूंदी, गर्ब्यांग, नपलचु, गुंजी, नाबी, रोगकांग और कुटी में रविवार रात 11 बजे से सोमवार दोपहर तक लगातार बर्फबारी हुई। ये सभी गांव चीन सीमा से लगे हुए हैं।

यह भी पढ़ें -  तीन महीने में बनाएं अगले तीन साल का रोडमैप, सीएम धामी का अधिकारियों को निर्देश

om parvat
नाभीढांग और ओम पर्वत में एक फुट से ज्यादा स्नोफॉल
सोमवार दोपहर बाद मौसम खुल गया है लेकिन ठंड अभी भी बरकरार है। मिली जानकारी के मुताबिक चीन सीमा से लगे गांवों में चार से पांच इंच तक की बर्फबारी हुई है। जबकि ओम पर्वत व आदि कैलाश में लगभग एक फुट से ज्यादा बर्फबारी हुई है। इसके साथ ही मुनस्यारी में भी बर्फबारी हुई है। मुनस्यारी के उच्च हिमालयी क्षेत्र पंचाचूली, छिपलाकेदार, खलियाटॉप, हंसलिंग, नागनी धूरा, बलांति में भी बर्फबारी हुई है।

Advertisement