उत्तराखंड में आदि कैलाश और ओम पर्वत की यात्रा शुरू, ‘बम-बम भोले’ के जयकारों के साथ 49 यात्री रवाना

खबर शेयर करें -


हल्द्वानी (उत्तराखंड): विश्व प्रसिद्ध आदि कैलाश यात्रा 2024 का शुभारंभ हो गया है. उत्तराखंड में कुमाऊं मंडल विकास निगम (केएमवीएन) की ओर से संचालित आदि कैलाश और ओम पर्वत की यात्रा आज से शुरू हो गई है. इसकी शुरुआत आज यानी सोमवार सुबह काठगोदाम स्थित कुमाऊं मंडल विकास निगम के गेस्ट हाउस से हुई.

विभिन्न राज्यों के 49 यात्री करेंगे आदि कैलाश की यात्रा: आदि कैलाश यात्रा में जाने वाले पहले दल में देश के विभिन्न राज्यों के 49 यात्री शामिल हैं. इसमें 34 यात्री काठगोदाम से शामिल हुए. जबकि, 15 यात्री धारचूला से शामिल होंगे. यात्रा के लिए अभी तक 500 से ज्यादा यात्रियों ने पंजीकरण कराया है. पहले दल में उत्तर प्रदेश के 13, दिल्ली के 11, पश्चिम बंगाल के 6 और ओडिशा के 5 यात्री शामिल हैं. इसके अलावा चंडीगढ़, मध्य प्रदेश, बिहार, गुजरात, उत्तराखंड, महाराष्ट्र और आंध्र प्रदेश के 2-2 यात्री शामिल हैं. इन यात्रियों में 32 पुरुष और 17 महिलाएं शामिल हैं.
ॐ पर्वत
कुमाऊंनी रीति रिवाज में हुआ यात्रियों का स्वागत: केएमवीएन के जीएम विजय नाथ शुक्ल ने बताया कि यात्रियों की सुविधा के लिए कैंप में कर्मचारियों की तैनाती की जा चुकी है. हर दल के लिए कर्मचारी गाइडों की तैनाती भी की है. केएमवीएन गेस्ट हाउस में पहुंचे सभी यात्रियों का पारंपरिक कुमाऊंनी रीति रिवाज के अनुसार उनका स्वागत किया गया. सुबह की भोजन के बाद उनको आगे के लिए रवाना किया गया.
आदि कैलाश के दर्शन करते पीएम मोदी
कैंची धाम और चितई गोल्ज्यू देवता के भी करेंगे दर्शन: काठगोदाम से सभी यात्री रवाना होकर कैंची धाम में नीम करौली बाबा के दर्शन करेंगे. इसके बाद यात्री चितई में गोल्ज्यू देवता के दर्शन कर जागेश्वर धाम पहुंचेंगे. यहां दोपहर का भोजन करने के बाद यात्री शाम को पिथौरागढ़ स्थित पर्यटक आवास गृह पहुंचेंगे. जहां रात्रि विश्राम के बाद मंगलवार को यात्री धारचूला रवाना होंगे. अगले दिन सभी यात्री गुंजी पहुंचेंगे.
आदि कैलाश जाने वाला पहला दल
परोसे जाएंगे पहाड़ी भोजन: केएमवीएन के अधिकारियों के मुताबिक भोजन में यात्रियों को मंडुए की रोटी, झिंगोरे की खीर आदि परोसे जाएंगे. कुमाऊं मंडल विकास निगम के प्रबंध निदेशक संदीप तिवारी ने सभी कार्मिकों को आवास गृहों में यात्रियों के साथ अच्छा और सौम्य व्यवहार रखने के निर्देश दिए हैं. वहीं, आदि कैलाश और ओम पर्वत के दर्शनों को लेकर यात्रियों में गजब का उत्साह देखने को मिल रहा है.
कुमाऊंनी रीति रिवाज में यात्रियों का स्वागत
इस दिन आदि कैलाश की यात्रा पर जाएगा दल: आदि कैलाश का दूसरा दल 16 मई को, तीसरा 19 मई को, चौथा 22 मई, पांचवां 28 मई को, सातवां 31 मई को, आठवां तीन जून, नौवां 6 जून को, दसवां 9 जून, 11 वां 12 जून, 13 वां 15 जून, 14 वां 21 जून, 15 वां 24 जून को रवाना होगा. बता दें कि बीते साल यानी 12 अक्टूबर 2023 को पीएम मोदी ने पिथौरागढ़ के गुंजी पहुंचकर आदि कैलाश और पार्वती कुंड के दर्शन किए थे. जिसके बाद से ही इस जगह के दर्शन के लिए लोग आगे आने लगे हैं.

Advertisement
यह भी पढ़ें -  मौसम विभाग ने बताया मौसम का हाल,जारी हुआ अलर्ट