हल्दुचौड़ लाल कुआं क्षेत्र में रसोई गैस की भारी किल्लत हफ्तों पहले बुक करने के बाद भी गैस की आपूर्ति ठप

खबर शेयर करें -

हल्दुचौड़ ।लालकुआँ में इन दिनों घरेलू रसोई गैस की भारी कमी देखी जा रही है। गैस उपभोक्ताओं को गैस सिलेंडर भरवाने के लिए कई-कई दिन तक इधर-उधर भटकना पड़ रहा है। बावजूद इसके उन्हें रसोई गैस उपलब्ध नहीं हो पा रही है। जिसके चलते आम उपभोक्ता बेहद परेशान हैं। वहीं दूसरी ओर रसोई गैस सिलेंडरों की अवैध रूप बिक्री करने वाले कालाबाजारियों के पास गैस सिलेंडरों की कोई कमी नहीं है उनके द्वारा लोगों से 100 से 200 रूपये अधिक लेकर बड़ी आसानी से रसोई गैस सिलेंडर उपलब्ध करवाया जा रहा है।


उपभोक्ताओं द्वारा हफ्ते भर पहले सिलेंडर बुक कराने के बावजूद क्षेत्र की इण्डेन गैस एजेंसी उपभोक्ताओं को गैस सिलेंडर उपलब्ध कराने में पूरी तरह से विफल साबित हो रही है और उपभोक्ताओं को एक-एक गैस सिलेंडर के लिए कई-कई दिन गैस एजेंसी और उसके वाहनों की तलाश में इधर-उधर भटकना पड़ रहा है। इसके बाद भी उन्हें रसोई गैस नहीं मिल पा रही है। उपभोक्ताओं का कहना है कि इण्डेन गैस एजेंसी द्वारा उपभोक्ताओं से डिलीवरी चार्ज वसूलने के बावजूद लोगों को होम डिलीवरी की सुविधा उपलब्ध नहीं करवायी जा रही है।
क्षेत्र की इण्डेन गैस एजेंसी की नाकामी अथवा जानबूझकर घरेलू रसोई गैस उपभोक्ताओं को सिलेंडर उपलब्ध ना करवाये जाने से क्षेत्र में गैस की कालाबाजारी करने वालों की चांदी कट रही है उनके द्वारा गैस सिलेंडर की निर्धारित कीमत से 100 से 200 रुपये अधिक वसूल कर लोगों को बड़ी आसानी से रसोई गैस सिलेंडर उपलब्ध करवाया जा रहा है। वहीं नगर के अधिकांश व्यवसायिक प्रतिष्ठानों पर खुलेआम घरेलू रसोई गैस सिलेंडरों का इस्तेमाल किया जा रहा है। ठेले, चाय की दुकान, ढाबों, होटलों पर व्यवसायिक गैस सिलेंडर के स्थान पर इस्तेमाल किए जाने का खामियाजा घरेलू रसोई गैस उपभोक्ताओं को भुगतना पड़ रहा है।

यह भी पढ़ें -  उत्तराखंड: चौकीदारों और ग्राम प्रहरियों का मानदेय बढ़ाने की तैयारी, राजस्व परिषद ने शासन को भेजा प्रस्ताव


उपभोक्ताओं का आरोप है कि गैस एजेंसी कर्मचारियों की मिलीभगत से लालकुआँ के अधिकांश वार्डों समेत लाइन पर संजय नगर, बंगाली कॉलोनी आदि क्षेत्रों में कई जगह खुलेआम घरेलू रसोई गैस सिलेंडरों की कालाबाजारी की जा रही है और ब्लैक में निर्धारित कीमत से 100 से 200 रुपये अधिक कीमत में धड़ल्ले रसोई गैस सिलेंडरों बेचे जा रहे हैं।
इसके अलावा लालकुआँ में मुख्य बाजार सहित कई स्थानों पर घरेलू रसोई गैस सिलेंडरों से छोटे गैस सिलेंडरों में गैस की रिफलिंग का धन्धा जारी है। जिसके चलते लालकुआँ में कभी भी कोई हादसा घटित हो सकता है लेकिन संबंधित विभागीय अधिकारियों द्वारा इस ओर कतई ध्यान नहीं दिया जा रहा है। प्रशासनिक अधिकारियों की इस बड़ी लापरवाही के चलते लालकुआँ में कभी भी हादसा हो सकता है।
बरहाल इण्डेन गैस एजेंसी लालकुआँ क्षेत्र में इण्डेन गैस उपभोक्ताओं को घरेलू रसोई गैस सिलेंडर उपलब्ध करवाने में पूरी तरह से नाकाम साबित हो रही है जबकि गैस की कालाबाजारी करने वालों के पास घरेलू रसोई गैस सिलेंडरों की भरमार है। इसको लेकर इण्डेन गैस उपभोक्ताओं में खासा आक्रोश है।
वहीं ऐसे में बड़ा सवाल यह है कि रसोई गैस की कालाबाजारी में लिप्त लोगों को आखिर कहां से और कौन घरेलू रसोई गैस के सिलेंडर उपलब्ध करवा रहा है। उपभोक्ताओं का कहना है कि इतने बड़े पैमाने पर घरेलू रसोई गैस सिलेंडरों की कालाबाजारी बिना इण्डेन गैस एजेंसी कर्मचारियों की मिलीभगत के नहीं हो सकती है। उनका आरोप है कि इण्डेन गैस एजेंसी के कुछ कर्मचारी गैस कालाबाजारियों के साथ मिलकर क्षेत्र में घरेलू रसोई गैस का कृतिम अभाव पैदा कर गैस सिलेंडरोंकी कालाबाजारी को बढ़ावा देने में जुटे हुए हैं।

Advertisement