ओखलकांडा सड़क हादसे के घायल एक मात्र जीवित मासूम की भी हुई उपचार के दौरान मौत

खबर शेयर करें -

हल्द्वानी। पिछले दस दिन से जिंदगी और मौत के बीच संघर्ष कर रहे ओखलकांडा सड़क हादसे में मां-पिता और भाई की मौत के बाद आज घायल योगेश ने भी दम तोड़ दिया है।

बताते चलें कि नैनीताल जिले के ओखलकांडा ब्लॉक के छिड़ाखान-रीठा साहिब मोटर मार्ग में हुए सड़क हादसे में नौ लोगों की मौत हो गई थी। एक मात्र जीवित मासूम योगेश ने 10 वें दिन आज सुशीला तिवारी अस्पताल में दम तोड़ा। 9 वर्षीय योगेश के माता पिता और भाई 17 नवंबर को हुए सड़क हादसे में अपनी जान गवां चुके थे। योगेश का उपचार सुशीला तिवारी अस्पताल हल्द्वानी में चल रहा था। डॉक्टरों की पूरी टीम ने उसको बेहतर उपचार देने की पूरी कोशिश की। विधायक राम सिंह कैड़ा ने मासूम की मौत पर दुख जताया है।

Advertisement
यह भी पढ़ें -  मा0 मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने बुद्धवार को सभी विभागों की नागरिक सेवाओं को एकीकृत करते हुए जनमानस तक सुविधाजनक, कुशल एवं पारदर्शी तरीके से उपलब्ध कराने के उद्देश्य से अपणि सरकार पोर्टल के साथ ही उन्नति पोर्टल की शुरूआत