प्रधानमंत्री, मुख्यमंत्री से की अपील और बिल्डर ने किया सुसाइड, अफ्रीका के कुख्यात गुप्ता बंधुओं का नाम आया सामने

खबर शेयर करें -


बिल्डर सतेंद्र सिंह साहनी ने निर्माणधीन बिल्डिंग से कूद कर आत्महत्या कर ली। बिल्डर ने एक सुसाइड नोट भी छोड़ा है। जिसमें उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी के साथ ही मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से भी अपील की है। इस मामले में सुसाइड नोट सामने आने के बाद नया मोड़ आया है। बिल्डर ने आत्महत्या के पीछे अफ्रीका के कुख्यात गुप्ता बंधुओं को जिम्मेदार ठहराया है और प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री से उनके परिवार को बचाने की अपील की है।


दून के नामी बिल्डर सतेंद्र सिंह साहनी ने निर्माणधीन सातवीं बिल्डिंग से कूद कर शुक्रवार दोपहर में आत्महत्या कर ली। मृतक बिल्डर पैसिफिक गोल्फ सोसाइटी निवासी था। बिल्डर की मौत की सूचना पाकर पुलिस मौके पर पहुंची और मामले की जांच-पड़ताल में जुट गई है। जांच के दौरान पुलिस के हाथ बिल्डर का लिखा हुआ सुसाइड नोट लगा है। जिस इस मामले में कई चौंकाने वाले खुलासे हुए हैं।

यह भी पढ़ें -  नशे की तस्करी कर मालामाल होने का प्लान नैनीताल पुलिस ने किया फेल,अवैध शराब से भरी पिकअप की सीज और तस्करों को पहुंचाया जेल

सुसाइड नोट में की पीएम और सीएम से अपील
बिल्डर सतेंद्र सिंह साहनी ने सुसाइड नोट में अपने आत्महत्या करने के पीछे के कारणों के बारे में लिखा है। इसके साथ ही प्रधानमंत्री मोदी और सीएम पुष्कर सिंह धामी से अपील भी की है। उन्होंने सुसाइड नोट में गुप्ता बंधुओं से अपने परिवार को बचाने की अपील की है। इसके साथ ही सुसाइड नोट में उन्होंने लिखा है कि वो उन्होंने कुछ भी गलत नहीं किया था। वो बहुत तनाव में थे और गुप्ता बंधुओं के कारण वो मौत को गले लगा रहे हैं।

यह भी पढ़ें -  पुलिस ने रोकी हरदा की कार, तो ऐसे पहुचे विधानसभा

गुप्ता बंधुओं के कारण लगाया मौत को गले
सतेंद्र सिंह साहनी ने सुसाइड नोट में लिखा की वो अपने बिज़नेस पार्टनर संजय गर्ग के साथ दो नए प्रोजेक्ट को लेकर काम कर रहे थे। प्रोजेक्ट को शुरू करने के लिए हमारे पास ज्यादा पैसे नहीं थे। लेकिन मार्केट में अच्छी छवि होने के कारण उन्होंने लैंड ओनर से मदद मांगी जिसके लिए वे तैयार भी हो गए। प्रोजेक्ट की प्लानिंग के दौरान वे अनिल गुप्ता और अजय गुप्ता के संपर्क में आए।

गुप्ता बंधु इस प्रोजेक्ट के लिए 85 प्रतिशत इन्वेस्टमेंट करने को तैयार हो गए। जिसके बाद एक प्रोजेक्ट पर काम शुरू होने लगा। इस बीच गुप्ता बंधुओं ने उनसे बातचीत बंद कर दी। तभी उनके दूसरे सहयोगी प्रोजेक्ट को लेकर भागीदारी लेने लगे। कुछ समय बाद अनिल गुप्ता और अजय गुप्ता, साहनी और उनके पार्टनर पर दबाव बनाने लगे। जिसके चलते उन्हें मौत को गले लगाना पड़ा।

यह भी पढ़ें -  कुमाऊँ-दो और तीन जनवरी को भी जारी रहेगी हड़ताल

गुप्ता बंधुओं को पुलिस ने किया गिरफ्तार
पुलिस ने बिल्डर सुसाइड मामले अफ्रीका के कुख्यात गुप्ता बंधुओं को गिरफ्तार कर लिया है। नामज़द मुक़दमे के बाद पुलिस ने अनिल गुप्ता और अजय गुप्ता को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने दोनों से इस मामले में पूछताछ शुरू कर दी है। पुलिस कल दोनों आरोपियों को कोर्ट में पेश कर सकती है।

Advertisement