क्राइमयहाँ बोरी में मिला महिला का शव, बंधे थे हाथ पैर, देखें क्या है उत्तराखंड कनेक्शन

खबर शेयर करें -

बरेली : युवती की हत्या के बाद बोरी में बांधकर शव हाईवे किनारे फेंक दिया गया। उसके बायें हाथ में अंग्रेजी अक्षर में पी व ए का गुदना लिखा है। हथेली में उसने नीले पेन से अजय व पुष्पा लिख रखा है जिसे पी व ए का फुल फार्म माना जा रहा है।

हथेली में युवती ने नाम के साथ एक मोबाइल नंबर भी लिखा जिसमें एक दो अक्षर ही स्पष्ट प्रतीत हो रहे हैं। ऐसे में अंदेशा जताया जा रहा है कि फोन नंबर लिख युवती ने सुराग देने का प्रयास किया था लेकिन, उसे मिटा दिया गया। देररात तक युवती की पहचान नहीं हो सकी थी।

घटनाक्रम लखनऊ-दिल्ली हाईवे जीरो प्वाइंट स्थित नगरिया गोपालपुर गांव का है। हाईवे से सटे शंकर लाल मिश्रा के गेहूं के खेत पर चकरोड की ओर से एक प्लास्टिक का बंधा कट्टा पड़ा था। खेत मालिक की नजर पड़ी तो उन्होंने प्रधान को जानकारी दी।

यह भी पढ़ें -  Bjp यह जीत 140 करोड़ भारतीयों की जीत है-सिद्धार्थ अग्रवाल

प्रधान की जानकारी पर एसपी उत्तरी मुकेश चंद्र मिश्र बिथरी इंस्पेक्टर संजय तोमर व फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे। बोरी खुलवाई गई तो उसमे युवती का शव निकला। इस पर फोरेंसिक व डाग स्कवायड की टीम बुलाई गई। युवती के हाथ-पैर प्लास्टिक की पतली सुतली से बंधे हुए थे। हाथ-पैर खोले गए। गले पर ऐसे निशान थे जिससे अंदेशा जताया जा रहा है कि उसी सुतली से युवती की गला दबाकर हत्या की गई।

शरीर में अन्य कहीं भी चोट के कोई निशान नहीं थे। कपड़े अस्त-व्यस्त नहीं थे। गले में काले धागे में लाकेट के साथ वह कान में झुमकी पहने थी। नेमपालिश लगी हुई थी। जिस बोरी में युवती का शव रखा गया था, वह उत्तराखंड के किच्छा स्थित यादव ब्रांड के एक चोकर फैक्ट्री का है। बोरी के पास में ही शाही के राशिद क्लाथ हाउस के कैरी बैग में युवती के दो जोड़ कपड़े रखे मिले। संबंधित बैग के आधार पर पुलिस ने दुकान मालिक से संपर्क किया।

यह भी पढ़ें -  यहाँ लोगों ने किये भूकंप के हल्के झटके महसूस- फैली दहशत


पता चला कि दो साल पहले तक उसकी दुकान पर इस डिजाइन के कैरी बैग थे। खेत स्वामी शंकर लाल ने बताया कि रविवार को भी वह खेत आए थे, तब कुछ नहीं था जिससे साफ हो गया कि शव को रात में ठिकाने लगाया गया। शव से कोई दुर्गंध नहीं थी जिससे रात में ही हत्या के बाद उसे फेंके जाने की बात सामने आई।

पहचान के लिए थाने के अलावा आस-पास के थानों में दर्ज गुमशुदगी देखी गई लेकिन, कोई सुराग नहीं मिला। दो गुमशुदगी के संबंध में चेहरा मिलता-जुलता दिखा। इस पर संबंधित के स्वजन से पुलिस ने संपर्क किया लेकिन, दोनों की ओर से पहचान से इन्कार कर दिया गया। युवती की उम्र 25 वर्ष के बीच आंकी गई है। उसने नारंगी व पिंक कलर का सलवार कुर्ता पहन रखा है।

यह भी पढ़ें -  अल्मोड़ा एसएसपी ने किए कई निरीक्षको व उप निरीक्षकों के तबादले


प्रेम-प्रसंग के चलते आनर किलिंग का अंदेशा

युवती के बायें हाथ में अंग्रेजी अक्षर में पी व ए का लिखा है। उसमें पी से ठीक पहले रेते जाने का भी लंबा निशान है, जो ज्यादा पुराना नहीं है। इससे अंदेशा जताया जा रहा है कि इससे पूर्व युवती ने नस काटकर खुदकुशी करने का प्रयास किया हो। हथेली में पेन से अजय व पुष्पा की कहानी पर आनर किलिंग का अंदेशा बढ़ गया है। जिस स्थान पर उसका शव फेंका गया, वहां आस-पास कोई सीसीटीवी कैमरे नहीं हैं। अब पहचान के बाद ही युवती की मौत की असल कहानी से पर्दा उठेगा।

बोरी में 25 वर्षीय महिला का शव मिला है जिसके गले पर निशान हैं। उसने नारंगी व पिंक कलर का सलवार कुर्ता पहन रखा है। शव की पहचान का प्रयास किया जा रहा है। पहचान कर शीघ्र ही घटना का अनावरण किया जाएगा।

Advertisement