यहां खेल विभाग का सरकारी सहायक कोच 10 हजार की रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार

खबर शेयर करें -

खेल विभाग कोटद्वार जनपद पौड़ी गढवाल के सरकारी सहायक कोच हॉकी को विजिलेंस की टीम ने 10,000 रूपये रिश्वत लेते रंगे हाथो गिरफ्तार किया है।

जानकारी के अनुसार, शिकायतकर्ता ने विजिलेंस में शिकायत दर्ज कराई थी कि जनपद पौड़ी गढवाल की अण्डर 19 पुरुष हाँकी टीम को राज्य स्तरीय प्रतियोगिता में जनपद पिथौरागढ ले जाने के लिये जिला क्रीड़ा अधिकारी पौड़ी गढवाल ने उसके भाई को प्राइवेट कोच/मैनेजर नियुक्त किया था।

यह भी पढ़ें -  हल्द्वानी में पैरामिलिट्री फोर्स ने संभाला मोर्चा, कुछ ही देर में पहुंचेगी सेना


प्राइवेट कोच 6 नवंबर को पौड़ी जिले की 14 सदस्यीय हाँकी टीम को लेकर पिथौरागढ गया था। टीम का खाने का कुल व्यय 40 हजार हुआ। यह खर्चा उसके द्वारा स्वयं वहन किया गया। खेल विभाग ने 27 नवंबर को नियमानुसार भुगतान भी कर दिया।
इस बीच, जनपद पौड़ी के खेल विभाग में नियुक्त सरकारी हॉकी कोच महेश्वर सिंह नेगी ने प्राइवेट कोच से 40 हजार में से 17 हजार की मांगी। नहीं देने पर कहा कि अगर वह रिश्वत नही देंगे तो उसे भविष्य में हॉकी टीम ले जाने का मौका नहीं दिया जाएगा।

यह भी पढ़ें -  कांग्रेस ने की नगीना कॉलोनी वासियों के पुनर्वास की मांग केंद्रीय मंत्री को सौंपा ज्ञापन


लिहाजा, इस मामले की शिकायत सतर्कता अधिष्ठान सेक्टर देहरादून में की गयी। विजिलेंस की ट्रैप टीम ने टीम ने बुधवार को खेल विभाग में तैनात हाँकी के सरकारी कोच महेश्वर सिंह नेगी निवासी (रतनपुर कुम्भीचौड निकट एसबीआई बैंक थाना कोटद्वार) को दस हजार रूपये की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया। यह गिरफ्तारी शशिधर स्टेडियम गाड़ीघाट कोटद्वार से की गई। निदेशक सतर्कता डॉ0 वी0 मरूगेसन ने ट्रैप टीम को नकद पुरस्कार देने की घोषणा की ।

यह भी पढ़ें -  भाजपा और सपा कार्यकर्ता भिड़े, जमकर हुए पथराव में दो लोग घायल

सतर्कता अधिष्ठान के टोल-फ्री हेल्पलाइन नंबर 1064 एवं Whatsapp हैल्पलाईन नं. 9456592300पर 24×7 सम्पर्क कर भ्रष्टाचार के विरूद्ध अभियान में अपना महत्त्वपूर्ण योगदान दें।

Advertisement