छोटी बहन ने गेम खेलने के दौरान नहीं दिया मोबाइल तो भाई ने फांसी लगाकर दी जान, परिवार में मचा कोहराम

खबर शेयर करें -

बागपत: छोटी बहन ने मोबाइल नहीं दिया तो सातवीं के छात्र ने मकान में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। उसके शव को पुलिस ने कब्जे में लिया। घटना से परिवार गमजदा है।

मुजफ्फरनगर के ग्राम लुसाना निवासी साबुद्दीन अपने परिवार के साथ पिछले करीब 15 साल से खुब्बीपुर निवाड़ा में रहते हैं। वह फल-सब्जी बेचकर अपने परिवार का पालन पोषण करते हैं। वह मंगलवार सुबह ग्राम सैड़भर में गमी में गए थे। उनकी पत्नी व तीन बच्चे घर पर थे। सुबह करीब नौ बजे उनकी पत्नी खाना बना रही थी।
मोबाइल पर गेम खेल रहे थे बच्चे
उनका बड़ा बेटा 15 वर्षीय साकिर और छोटी बेटी मोबाइल पर गेम खेल रहे थे। साकिर ने अपनी छोटी बहन से मोबाइल चलाने के लिए मांगा। बहन ने मोबाइल देने से मना कर दिया। दोनों बच्चों का आपस में विवाद हो गया। इसी के चलते साकिर मकान में खूंटी पर रस्सी का फंदा लगाकर लटक गया। इससे उसकी मौत हो गई। घटना का पता चलने पर स्वजन व आस-पड़ोस के लोग एकत्र हो गए।

यह भी पढ़ें -  राज्यपाल ने किया अपनी धर्मपत्नी के साथ मतदान, मतदाताओं से की मत का इस्तेमाल करने की अपील


कोतवाली प्रभारी राकेश कुमार शर्मा का कहना है कि प्राथमिक जांच में सामने आया कि मोबाइल को लेकर छात्र ने फांसी लगाकर आत्महत्या की है। मामले की जांच कर कार्रवाई की जाएगी।

मोबाइल दिला दो, वरना मर जाऊंगा
ग्रामीणों के मुताबिक साकिर ने अपनी मां से कहा था कि गेम खेलने के लिए मोबाइल दिलो दो, वरना मर जाऊंगा। इस पर मां ने कह दिया था कि बेटा अपनी छोटी बहन को गेम खेलने दे, थोड़ी देर बाद तुम मोबाइल से खेल लेना। उसके बाद साकिर मकान में अंदर चला गया था। यह आभास नहीं था कि साकिर आत्महत्या जैसा कदम उठा लेगा

Advertisement