दून से महिला मरीज को लेकर जा रही एम्बुलेंस को ट्रक ने मारी टक्कर, महिला मरीज व उसके पुत्र की मौत

खबर शेयर करें -


रूद्रपुर। दून से महिला मरीज को लेकर नवाबगंज जा रही एम्बुलेंस को निकटवर्ती ग्राम जाफरपुर के पास ट्रक ने टक्कर मार दी।इस दुर्घटना में एम्बुलेंस में सवार महिला मरीज व उसके पुत्र की मौत हो गई जबकि एम्बुलेंस चालक सहित मृतका के जेठ के दो पुत्र गंभीर रूप से घायल हो गये जिन्हें उपचार के लिए भोजीपुरा स्थित निजी चिकित्सालय ले जाया गया मामले की जानकारी मिलने पर पुलिस ने जिला चिकित्सालय पहुंचकर मृतका के शव को अपने कब्जे में लिया जबकि उसके पुत्र का शव भोजीपुरा चिकित्सालय में है।

जानकारी के अनुसार ग्राम हरदुआ किफायतुल्ला थाना नवाबगंज(बरेली)निवासी 42 वर्षीय मधुलता पत्नी दिनेश अल्मोड़ा के एक विद्यालय में शिक्षिका के रूप में कार्य करती थीं करीब 15 दिन पूर्व उनका ग्राम जैती जाने के दौरान एक्सीडेंट हो गया था जिसके बाद उनका देहरादून के एक चिकित्सालय में उपचार किया गया।बताया जाता है कि गत दिवस शिक्षिका मधुलता को लेकर उसका 12 वर्षीय पुत्र देवांश एंव जेठ हरीश के दो पुत्र विकास तथा मोहित एम्बुलेंस से वापस नवाबगंज की ओर रवाना हुए।एम्बुलेंस जब यहां मध्य रात्रि निकटवर्ती ग्राम जाफरपुर के पास पहुंची तो ट्रक ने उसे टक्कर मार दी इस दुर्घटना में एम्बुलेंस में सवार सभी लोगों को गंभीर चोटें आ गईं गंभीर रूप उसे घायल मधुलता को जिला चिकित्सालय लें जाया गया जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

यह भी पढ़ें -  थल सेना दिवस : सीएम धामी ने वीर जवानों को दी शुभकामनाएं

फ़ास्ट न्यूज़ 👉 कांग्रेस को एक बार फिर से बड़ा लगने की तैयारी, प्रदेश प्रवक्ता दीपक बल्यूटिया देंगे इस्तीफा
जबकि अन्य घायल एम्बुलेंस चालक प्रदीप तथा देवांश,विकास व मोहित को गंभीर अवस्था में भोजीपुरा स्थित निजी चिकित्सालय ले जाया गया जहां देवांश ने उपचार के दौरान दम तोड़ दिया।इधर घटना की जानकारी मिलते ही मृतका के परिजन जिला चिकित्सालय पहुंचे और उनमें कोहराम मच गया वहीं मृतक देवांश का शव भोजीपुरा के चिकित्सालय में मौजूद है।इधर पुलिस ने जिला चिकित्सालय पहुंचकर मृतका शिक्षिका मधुलता का शव अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम केे लिए भिजवाया। बताया जाता है कि मृतक देवांश एकलौती संतान थी उसके पिता दिनेश घर में ही कोचिंग का कार्य करते हैं।

Advertisement