24 घंटे में ही शिक्षा विभाग ने बदला अपना फैसला, निरस्त किया शिक्षकों को ट्रैफिक ड्यूटी में लगाने का आदेश

खबर शेयर करें -



शिक्षा विभाग ने 24 घंटे में ही शिक्षकों को ट्रैफिक ड्यूटी में लगाने का अपना फैसला बदल दिया है। शिक्षा विभाग ने अपना ये आदेश निरस्त कर दिया है। यातायात ड्यूटी पर लगाए गए सभी सहायक अध्यापकों को तत्काल अपनी उपस्थिति अपने मूल विद्यालय में देने के निर्देश दिए गए हैं।


24 घंटे में ही शिक्षा विभाग ने बदला अपना फैसला
बीते दिनों शिक्षा विभाग ने ऐसा आदेश पारित किया जो कि चर्चाओं करा विषय बन गया। शिक्षा विभाग ने नैनीताल समेत आसपास के क्षेत्रों में सीजन के दौरान पर्यटकों के बढ़ते दबाव और ट्रैफिक जाम की समस्या से निपटने के लिए शिक्षकों और क्लर्क की ड्यूटी ट्रैफिक ड्यूटी में लगाने का आदेश दिया। शिक्षा विभाग के इस फरमान के बाद इसको लेकर चर्चाएं होने लगी। आम जनता भी इसका विरोध करने लगी। जिसके चलते 24 घंटे में ही शिक्षा विभाग ने अपना ये फैसला बदल लिया है और इस आदेश को निरस्त कर दिया है।

यह भी पढ़ें -  सीएम की घोषणा के बाद भी गांव तक नहीं पहुंची सड़क, ग्रामीणों ने किया चुनाव का बहिष्कार

शिक्षा विभाग ने दिए थे ये तर्क
बता दें कि शिक्षकों की ट्रैफिक ड्यूटी में लगाने के पीछे की शिक्षा विभाग ने ये तर्क भी दिया है कि स्कूलों में गर्मियों की छुट्टियां चल रही हैं। इसके साथ ही नैनीताल में पुलिस कर्मियों की कमी को भी वजह बताया जा रहा है।

Advertisement