हल्दूचौड़ के इस बालक के होनहार अभिनय पर उत्तराखंड के दर्द और पलायन को लेकर बनाई गई फिल्म ने मचाई धूम,देखे वीडियो

खबर शेयर करें -

लालकुआं। हल्दूचौड़ के नाथूपुर चौम्वाल निवासी भुवन चंद्र पांडे के पुत्र हेमंत पांडे जोकि फिल्म पुश्तैनी में सहायक अभिनेता के रूप में अपना किरदार निभा रहे हैं ने पहाड़ की पीड़ा और पलायन का जो सफल मिश्रण किया, जिसके लिए उनकी क्षेत्र में भूरी भूरी प्रशंसा हो रही है, अपने बचपन के मित्र प्रसिद्ध फिल्म अभिनेता रितिक रोशन के एक्टिंग कोच रहे विनोद रावत के निर्देशन में बनी फिल्म पुश्तैनी में हेमंत पांडे ‘हेमू’ ने विनोद रावत के साथ में सह अभिनेता की भूमिका निभाई है, यह फिल्म अन्य फिल्मों से हटकर पूरी तरह उत्तराखंड के पलायन एवं पहाड़ के दर्द पर आधारित फिल्म है, जिसके 80% सीन पहाड़ में ही फिल्माए गए हैं, वर्तमान में यह फिल्म हल्द्वानी और रुद्रपुर के टॉकीजों के साथ-साथ हल्दुचौड़ के केशव प्लाजा मूवी जॉन सिनेमा हॉल में भी प्रातः 10:30 बजे और शाम 5 बजे दिखाई जा रही है, जिसे देखने भारी संख्या में क्षेत्र के लोग पहुंच रहे हैं, जिन्होंने फिल्म की काफी तारीफ की, और इसे पहाड़ के वास्तविक दर्द को सामने लाने वाली मूवी बताया।


विदित रहे कि फिल्म में सहायक अभिनेता के रूप में अभिनय कर रहे हेमंत पांडे के दादाजी स्वर्गीय लक्ष्मी दत्त पांडे दुर्गापालपुर परमा के निवासी थे, कुछ वर्ष पूर्व हेमंत के पिता भुवन चंद्र पांडे ने नाथूपुर चौम्वाल हल्दूचौड़ में मकान बनाया, वह इफ्को आंवला में सेवारत थे, जहां से सेवानिवृत होकर अब हल्दूचौड़ क्षेत्र में ही रहते हैं।

यह भी पढ़ें -  बेस चिकित्सालय श्रीनगर में 24 अप्रैल से लगेगी न्यूरोलॉजिस्ट की ओपीडी, पहाड़ के मरीजों को मिलेगी राहत


भुवन चंद्र पांडे के अनुसार हेमंत ने 13 साल की उम्र में थिएटर से अपनी यात्रा शुरू की थी। उन्होंने दिल्ली विश्वविद्यालय में हंसराज ड्रामाटिक्स सोसाइटी के अध्यक्ष के रूप में कार्य किया और राष्ट्रीय नाट्य विद्यालय द्वारा आयोजित कार्यशालाओं में भाग लिया। मुंबई में, उन्होंने अदम्य रंगमंच की स्थापना की, और ‘लासनवाला’ का निर्देशन किया, जिसने मेटा 2017 और थेस्पो थिएटर फेस्टिवल में प्रशंसा अर्जित की। उन्होंने मिस्टर पीयूष मिश्रा के साथ गगन दमामा बाज्यो का भी निर्देशन किया। इसके बाद उन्होंने पुश्तैनी फिल्म में डेब्यू किया, जिसे सिनेमाघरों में आने से पहले एमएएमआई फिल्म फेस्टिवल में प्रदर्शित किया गया था।

यह भी पढ़ें -  प्रदेश के नए राज्यपाल बने लेफ्टिनेंट जनरल (रि.) गुरमीत सिंह

Advertisement