एक तरफा प्यार ने ले ली जान, घंटो ज़िंदगी – मौत की जंग लड़ी शिक्षिका – पढ़े खबर क्या था कसूर

खबर शेयर करें -


शिक्षिका 32 घंटे 51 मिनट तक मौत से लड़ती रही। लेकिन वह जिंदगी से जंग हार गईं. मेरठ में उपचार के दौरान शिक्षिका की मौत हो गई। छात्र ने एकतरफा प्यार में शिक्षिका को गोली मारी थी। शरीर में फंसी गोली से कराह रही शिक्षिका 32 घंटे 51 मिनट तक मौत से लड़ती रही और डॉक्टर से बचाने की गुहार लगाती रही. लेकिन डॉक्टर भी उन्हें बचा नहीं सके. ऑपरेशन के बाद भी उनकी गोली नहीं निकाली जा सकी. आखिरकार वह जिंदगी की जंग हार गईं और दुनिया को अलविदा कह गईं। उसका कसूर सिर्फ इतना था कि उसने अपने ही स्टूडेंट का प्रपोजल स्वीकार नहीं किया था, जो उससे एकतरफा प्यार करता था। रोजाना की तरह शुक्रवार को भी शहर के एक मोहल्ले की 25 वर्षीय युवती बिजनौर स्थित कंप्यूटर सेंटर पर छात्रों को पढ़ाने आई थी। तभी कुछ देर बाद प्रैक्टिस के नाम पर दोबारा क्लास में घुसे छात्र प्रशांत पुत्र लवकुश निवासी शादीपुर ने तमंचे से उसे गोली मार दी और भाग गया। शिक्षिका को अस्पताल ले जाया गया, जहां से उसे मेरठ रेफर कर दिया गया।

हालांकि, उनका ऑपरेशन शुक्रवार को ही कर दिया गया था. उसे खून दिया गया क्योंकि उसका काफी खून बह चुका था। इलाज के दौरान खून तो रुक गया, लेकिन गोली नहीं निकाली जा सकी. करीब 32 घंटे 51 मिनट तक जिंदगी और मौत के बीच संघर्ष करने के बाद उनकी मौत हो गई. वहीं पुलिस पूछताछ में आरोपी ने बताया कि वारदात में इस्तेमाल पिस्तौल उसने चार साल पहले युवक रचित से खरीदी थी. पुलिस आरोपी प्रशांत के पिता लवकुश को भी हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है.

यह भी पढ़ें -  हल्द्वानी:सेवानिवृत्त कैप्टन की गौला बैराज में मिली लाश पुलिस जांच में जुटी

आरोपी एक तरफा प्यार करता था

छात्र प्रशांत कंप्यूटर सेंटर में कोर्स करने आया था, जिसका कोर्स साल 2022 में पूरा होगा. इसी बीच वह टीचर से एकतरफा प्यार करने लगा था. उन्होंने कई बार प्रपोज किया, लेकिन हर बार टीचर ने मना कर दिया।

कम्प्यूटर सेंटर की कक्षाओं में कम उपस्थिति

कंप्यूटर सेंटर के क्लासरूम में घुसकर शिक्षिका को गोली मारने की घटना से छात्रों में भय व्याप्त हो गया. यही कारण रहा कि शनिवार को केंद्र की कक्षाओं में छात्रों की उपस्थिति कम रही. इस घटना को लेकर शिक्षकों में भी चर्चा होती रही.

यह भी पढ़ें -  कालाढुंगी में विकास ने पकड़ी रफ्तार, कोटाबाग के गुरुणी नाले पर पुल निर्माण एवं 47 किलोमोटर की सड़कें हुई स्वीकृत

मामले को हत्या के आरोप में तरमीम किया जाएगा

शहर कोतवाली पुलिस द्वारा शनिवार को गिरफ्तार किए गए आरोपी का जानलेवा हमले की धाराओं में चालान कर दिया गया। दरअसल, चालान जारी होने के वक्त शिक्षिका अस्पताल में भर्ती थी और जीवित थी चालान कटने के कुछ ही घंटों बाद टीचर की मौत की खबर पहुंच गई. अब पुलिस जानलेवा हमले के मामले को हत्या में तरमीम करेगी। शिक्षिका को गोली मारने के आरोपी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है. हालांकि, बेहतर इलाज के बाद भी शिक्षिका को बचाया नहीं जा सका. – संजीव वाजपेई, एएसपी सिटी

Advertisement