हल्द्वानी हिंसा के मास्टरमाइंड अब्दुल मलिक के आलीशान घर में मिली बेशकीमती चीजें, लग्जरी लाइफ देखकर पुलिस भी रह गई हैरान

खबर शेयर करें -

हल्द्वानी (उत्तराखंड): हल्द्वानी के बनभूलपुरा हिंसा के मास्टरमाइंड अब्दुल मलिक की कोठी की पुलिस ने कुर्की तो कर ली है. लेकिन कुर्की के दौरान हिंसा के मास्टरमाइंड अब्दुल मलिक के आलीशान घर से जो सामान बरामद हुआ है, वह हैरान करने वाले हैं. पुलिस के अनुसार अब्दुल मलिक के घर से करोड़ों रुपए की बेशकीमती सामान बरामद हुआ है. यहां तक की कई देश के विदेशी करेंसी भी बरामद की गई है. अब्दुल मलिक की आलीशान कोठी लाइन नंबर 8 में बनी हुई है. शुक्रवार दोपहर के बाद से कुर्की की हुई कार्रवाई शनिवार देर शाम तक चली.

अब्दुल मलिक के घर से मिला बेशकीमती सामान: कार्रवाई में पुलिस को बेशकीमती घड़ियां, सऊदी का इत्र और विदेशी करेंसी के साथ ही एक ऐसा डाइनिंग टेबल सेट मिला, जिसकी कीमत लाखों में आंकी जा रही है. कुर्की की कार्रवाई पैरामिलिट्री फोर्स की निगरानी में की गई. अब्दुल मलिक लाइन नंबर 8 में बने घर में अपनी पत्नी, बेटे मोईद और बहू के साथ रहता है. इस कोठी में करीब 15 कमरे हैं. पुलिस ने मलिक के घर में लगे हर वो सामान जब्त कर लिया, जो बिक सकता है. जिसमें घर के खिड़की और दरवाजे भी शामिल हैं. बताया जा रहा है कि अब्दुल मलिक के घर से करीब डेढ़ दर्जन विदेशी घड़ियां बरामद की हैं.

यह भी पढ़ें -  पिता ने मामूली सी बात पर अपने पुत्र की चाकू मारकर हत्या कर दी

पुलिस ने सामान किया जब्त: 30 जोड़ी से अधिक चप्पल-जूते, लाखों का झूमर और हर कमरे में पुलिस को महंगे बेड और सोफा सेट मिले. पुलिस ने घर के दरवाजे पर पड़े डोरमेट से लेकर छतों के पंखे, बाथरूम में लगे गीजर, फर्नीचर, ज्वैलरी, साज-सज्जा का सामान, विदेशी घड़ियां, सऊदी का इत्र, जिम आदि का सामान, सोफा सेट, क्रॉकरी, वाहन समेत सब कुछ जब्त कर लिया है.

यह भी पढ़ें -  जानिए देश और प्रदेश में आज क्या कुछ रहेगा खास

अलग-अलग देशों की मुद्राएं भी मिली: बनभूलपुरा हिंसा के मास्टरमाइंड अब्दुल मलिक के घर में जब पुलिस टीम ने छानबीन शुरू की तो वहां रखी अलमारियों में भारतीय मुद्रा के साथ-साथ विदेशी मुद्राएं भी मिली. जिसमें बांग्लादेश, नेपाल, सऊदी अरब व कुछ अन्य देशों की करेंसी शामिल बताई जा रही है. हालांकि उनकी संख्या कितनी है, इस बारे में पुलिस फिलहाल कुछ नहीं बता रही है. वहीं पूरे मामले में पुलिस खुलकर कुछ भी कहने से बच रही है.

Advertisement