कैंची धाम जाने वाले सैलानियों के लिए बड़ी खबर,शनिवार-रविवार को देखे कैंची धाम जाने के लिए प्रशासन ने किया ट्रैफिक नियमो में बदलाव

खबर शेयर करें -

नैनीताल। इस वीकेंड में नैनीताल आने वाले सैलानी व भक्तजन कैंची धाम शनिवार-रविवार जाने के लिए स्थानीय प्रशासन ने ट्रैफिक नियमों में बदलाव किया है। हल्द्वानी से लेकर नैनीताल, कैंची धाम तक वाहनों के जाम, पार्किंग पैक होने से निपटने के लिए शनिवार व रविवार को पर्यटक अपने वाहन हल्द्वानी, रूसी बायपास, भवाली सेनेटोरियम, भीमताल मार्ग के नैनी बैंड के अस्थाई पार्किंग पर वाहन पार्क कर शटल सेवा के वाहनों से गंतव्य का जायेंगे। कैंची धाम में इस वीकेंड श्रद्धालुओं की भीड़ बढ़ जाएगी जिसके लिए ट्रैफिक को सुचारू ढंग से चलाने के लिए विशेष ट्रैफिक नियम लागू किए हैं। जिसके तहत निजी वाहनों के संचालन पर भी रोक लगा दी है। बता दें कि एसपी यातायात हरबंस सिंह ने शुक्रवार को अधिकारियों संग बैठक कर इस शनिवार और रविवार को हल्द्वानी रेलवे स्टेशन से शटल सेवा के तौर पर बस और नैनी बैंड प्रथम से टैक्सी व बस तथा सैनेटोरियम से टैक्सी व बस, नगर पालिका मैदान से टैक्सी वहीं खैरना से कैंची धाम के लिए शटल सेवा व टैक्सी का संचालन किया जाएगा। स्थानीय प्रशासन के इस ट्रैफिक नियम के बाद पर्यटकों और श्रद्धालुओं को परेशानियों का सामना कम करना पड़ेगा। प्रशासन पर्यटकों और श्रद्धालुओं से अपील भी कर रहा है कि वह प्रशासन के लिए ट्रैफिक प्लान को देखने के बाद ही यात्रा करें। इसके साथ ही प्रशासन ने यह भी अपील की है कि केमू स्टेशन से शटल सेवा का उपयोग करें, जिससे मुख्य मार्गों पर वाहनों की आवाजाही कम हो। कैंची धाम उत्तराखंड के नैनीताल शहर के नजदीक स्थित है। नैनीताल से 17 किमी दूर कैंची धाम स्थिति है। जहां से आप सड़क मार्ग से आसानी से पहुंच सकते हैं। अगर आप दिल्ली से कैंचीधाम जाना चाहते हैं तो दिल्ली से नैनीताल की दूरी 324 किलोमीटर है। दिल्ली से कैंचीधाम का सफर तय करने के लिए आपको 6 घंटे का समय लगेगा। आगे का सफर आप सड़क मार्ग से तय करके कैंची धाम पहुंच सकते हैं। यहां रात्रि में रुकने के लिए होम स्टे, होटल भवाली, निगलाट, कैंची धाम सहित रातीघाट आदि स्थानों में व्यवस्था है

Advertisement
यह भी पढ़ें -  सांप के जहर मामले में 5 दिन के जेल के बाद एल्विश यादव को मिली जमानत