उत्तराखंड पहुंचे हिमाचल के नौ बागी विधायक, ऋषिकेश के बड़े होटल में रुके होने की चर्चा

खबर शेयर करें -

देहरादून। राज्यसभा चुनाव में क्रॉस वोटिंग के आरोप में अयोग्य घोषित किए गए कांग्रेस के छह विधायकों सहित तीन निर्दलीय विधायकों को चंडीगढ़ से उत्तराखंड शिफ्ट किया गया। सूत्रों के अनुसार, इन सभी को ऋषिकेश के एक बड़े होटल में ठहराया गया है।

सूत्रों ने बताया कि शुक्रवार दोपहर ढाई बजे उक्त विधायकों को चंडीगढ़ से एक चार्टर्ड प्लेन से जौलीग्रांट हवाई अड्डे लाया गया। जौलीग्रांट से उन्हें ऋषिकेश-बदरीनाथ मार्ग स्थित एक बड़े होटल में ले जाया गया। ऋषिकेश लाए गए अयोग्य घोषित विधायकों में सुधीर शर्मा, राजिंदर राणा, इंदरदत्त लखनपाल, देविंदर कुमार भुट्टू, रवि ठाकुर व चैतन्य शर्मा शामिल हैं। इनके साथ तीन निर्दलीय विधायक होशियार सिंह, केएल ठाकुर, आशीष शर्मा और भाजपा के दो विधायक विक्रम ठाकुर व त्रिलोक जम्वाल भी बताए गए हैं।

यह भी पढ़ें -  हनुमान जयंती के उपलक्ष्य में आज डायवर्ट रहेगा हल्द्वानी का यातायात

सियासत के जानकार मानते हैं कि हिमाचल की राजनीति अब बहुत कुछ सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर निर्भर करेगी। इन नेताओं को कोर्ट से राहत मिली तो भाजपा हिमाचल प्रदेश में भाजपा फ्लोर टेस्ट की मांग कर सकती है।

मालूम हो राज्यसभा चुनाव में कांग्रेस के इन विधायकों पर क्रॉस वोटिंग का आरोप है। इस चुनाव में भाजपा प्रत्याशी हर्ष महाजन विजयी घोषित हुए थे। ये विधायक बजट मतदान में भी शामिल नहीं हुए थे। हिमाचल प्रदेश विधानसभा के स्पीकर ने ह्विप के उल्लंघन के मामले में इन्हें अयोग्य घोषित किया गया था।

यह भी पढ़ें -  रेखा आर्या ने राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजना के अन्तर्गत 200 पात्र लोगों को नवीन राशन कार्ड वितरित किये गये

ये विधायक बीती 27 फरवरी से चंडीगढ़ के पंचकूला में ठहरे हुए थे। इन्होंने अपनी सदस्यता को लेकर सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की है, जिस पर कुछ दिनों के भीतर सुनवाई प्रस्तावित है। इस बीच, इन सभी को ऋषिकेश में गंगा किनारे स्थित जिस होटल में ठहराया गया है, वहां की सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है। एक पुलिस अफसर ने इसकी पुष्टि की। उधर, हिमाचल कांग्रेस में बगावत को हवा देकर भाजपा सरकार बनाने के दावे कर रहे राज्यसभा सांसद हर्ष महाजन ने शुक्रवार को गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात की।

Advertisement