चीला मार्ग में वार्डन की मौत का बड़ा अपडेट आया सामने, इस वजह से हुई थी मौत

खबर शेयर करें -

ऋषिकेश में आठ जनवरी को चीला मार्ग में हुए हादसे में बड़ा अपडेट सामने आया है। हादसे में सभी मृतकों की पोस्टमार्टम रिपोर्ट पुलिस को मिल चुकी है। जिसमें नहर में डूबी वार्डन की मौत की वजह सामने आ गई है।


चीला सड़क हादसे के सभी मृतकों की पोस्टमार्टम रिपोर्ट पुलिस को मिल गई है।पोस्टमार्टम रिपोर्ट में खुलासा हुआ कि वरदान आलोकी नाथ की मौत नहर में डूबने से नहीं बल्कि सिर में चोट लगने से हुई है। बता दें आलोकी नाथ का शव हादसे के चार दिन बाद एसडीआरएफ ने चीला नहर से बरामद किया था।

यह भी पढ़ें -  नासिक में डॉक्टर पर दरांती से किया 18 बार वार, जानें वजह


आठ जनवरी की शाम चीला मार्ग में वाहन के ट्रायल के दौरान सड़क हादसा हुआ था। हादसे में रेंजर समेत छह की मौत हो गई थी। हादसे के दौरान वाहन में 10 लोग सवार थे। ट्रायल के दौरान वाहन का टायर फट गया था। जिससे वाहन अनियंत्रित होकर पेड़ से टकराकर पलट गया।


गाड़ी में सवार दो अफसर चीला शक्ति नहर में जा गिरे। हादसे में चीला के रेंजर शैलेश घिल्डियाल, उप वन क्षेत्राधिकार प्रमोद ध्यानी, सैफ अली खान पुत्र खलील उल रहमान, कुलराज सिंह, वन्य जीव प्रतिपालक आलोकी और अंकुश की मौत हो गई थी।

यह भी पढ़ें -  Animal Collection Day 1: सिनेमाघरों में ‘एनिमल’ का तूफान, ‘पठान’-‘जवान’ का तोड़ेगी रिकॉर्ड !


जानकारी के अनुसार विवेचना अधिकारी अनिल चौहान ने बताया कि हादसे में सभी मृतकों की पोस्टमार्टम रिपोर्ट आ गई है। सभी की मौत सिर में चोट लगने से हुई थी। इसके साथ ही महिला अधिकारी आलोकी नाथ की मौत का कारण भी सिर में गंभीर चोट लगना ही है।

Advertisement