चीला बैराज से बरामद किया शैलेंद्र का शव, दरोगा की बेटी आरती का हत्यारा है मृतक

खबर शेयर करें -



छिद्दरवाला क्षेत्र में दरोगा की बेटी की हत्या करने वाले आरोपी शैलेंद्र का शव चीला बैराज से पुलिस ने शुक्रवार को बरामद कर लिया है। बता दें आरोपित ने युवती की हत्या कर शक्ति नहर में कूद कर मौत को गले लगा लिया था। घटना के बाद से ही पुलिस लगातार आरोपित की तलाश के लिए सर्च अभियान चलाए हुए थी।


बता दें पांच मई को शैलेन्द्र भट्ट ने आरती को मौत के घाट उतार कर तीन पानी पुलिया के नीचे फेंक दिया था। आरोपी ने इसके बाद खुद नहर में कूदकर आत्महत्या कर ली थी। पांच दिन बाद युवक के शव को चीला बैराज से बरामद कर लिया गया है। युवक के परिजनों को मौके पर बुलाकर उसकी शिनाख्त की कार्यवाही की गई।

यह भी पढ़ें -  हाईकोर्ट – नगर पालिकाओं में चुनाव घोषित न करने के मामले में सचिव तलब

दरोगा की बेटी आरती की हत्या का आरोप
बता दें सोमवार सुबह हरिद्वार -देहरादून हाईवे पर तीन पानी पुलिया के पास राहगीरों को युवती का शव पड़ा मिला। घटनास्थल पर खून भी पड़ा हुआ था संभावना जताई जा रही थी की युवती का धारदार हथियार से गला रेतकर हत्या की गई है। युवती के गले में गहरे घाव के निशान थे।

यह भी पढ़ें -  वीडीओ के शव को कुतर गए चूहें, सुबह हालत देख दंग रह गए परिजन, मोर्चरी में रखा था शव

मामले की जांच जारी
मामले को लेकर एसएसपी देहरादून अजय सिंह ने बताया कि मामले की जांच जारी है। जल पुलिस द्वारा एसडीआरएफ के गोताखोरों द्वारा शुक्रवार को आरोपी के शव को चीला नहर से बरामद किया गया है। घटना से जुड़े सभी पहलुओं की विस्तृत जांच की गई है। घटना में किसी अन्य के सम्मिलित होने के कोई साक्ष्य नहीं मिले हैं।

जन्मदिन पार्टी की बात कहकर घर से निकली थी आरती
बता दें रविवार शाम करीब छह बजे आरती अपने दोस्त के जन्मदिन पार्टी की बात कहकर घर से निकली थी। लेकिन देर रात तक भी आरती घर नहीं लौटी। आरती का दोस्त शैलेन्द्र भी रविवार शाम अपने घर से पांच बजे निकला था। शैलेन्द्र ने अपनी बहन को बताया था कि वह रात में वापस आएगा। जब देर रात भी शैलेन्द्र घर नहीं लौटा तो उसकी बहन ने पुलिस को इसकी सूचना दी। बता दें आरती और शैलेन्द्र पिछले कई सालों से एक-दूसरे को जानते थे

Advertisement