तीर्थयात्रियों ने तोड़ा पिछले साल का रिकॉर्ड, अब तक 52 लाख से अधिक श्रद्धालु कर चुके हैं दर्शन

खबर शेयर करें -

चारधाम यात्रा में आने वाले श्रद्धालुओं इस बार भी रिकॉर्ड तोड़ दिया है। बीते साल पूरे यात्रा काल में केदारनाथ, बदरीनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री धाम के साथ ही हेमकुंड साहिब में पहली बार 46.29 लाख श्रद्धालुओं ने दर्शन करने का रिकॉर्ड बनाया था। इस बार यात्रा संपन्न होने से पहले तीर्थयात्रियों ने ये रिकॉर्ड भी तोड़ दिया है।

.
तीर्थयात्रियों ने तोड़ा पिछले साल का रिकॉर्ड
मानसून के विदा होने के बाद अक्टूबर के महीने में चारधाम यात्रा ने एक बार फिर रफ्तार पकड़ ली थी। चारधाम में दर्शन के लिए श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ रही है।

यह भी पढ़ें -  बोरवेल मे फंसा तेंदुआ, वन विभाग की टीम को चकमा देकर भागा

52 लाख से अधिक श्रद्धालु कर चुके हैं दर्शन
बदरीनाथ-केदारनाथ मंदिर समिति (बीकेटीसी) की कर से दी गई जानकारी के अनुसार 31 अक्टूबर तक चार धाम में आने वाले श्रद्धालुओं की संख्या 5217177 रही। ये आंकड़ा अभी और बढ़ने की उम्मीद है।

बता दें बदरीनाथ में एक नवंबर की रात्रि तक 1720514 श्रद्धालु दर्शन कर चुके हैं। बदरीनाथ धाम के कपट 18 नवंबर शनिवार को बंद होने हैं। वही केदारनाथ धाम में अभी तक 1898161 श्रद्धालुओं ने दर्शन किए। जबकि शाम के कपाट 15 नवंबर भैया दूज के पर्व पर बंद होने है।

यह भी पढ़ें -  आंचल दूध और अन्य उत्पादों के दामों में भारी बढ़ोतरी, देखिए किसके हुए कितने दाम

इसके अलावा गंगोत्री के कपाट 14 नवंबर अन्नकूट के अवसर पर बंद होंगे। अभी तक गंगोत्री धाम में 890441 दर्शन कर चुके हैं। वहीं यमुनोत्री धाम के कपाट 15 नवंबर भैया दूज के पर्व पर बंद होने है। अभी तक यमुनोत्री धाम में 727359 श्रद्धालुओं ने दर्शन किए।

श्रद्धालुओं का आंकड़ा बढ़ने की उम्मीद

Ads.
बता दें चारों धाम में खराब मौसम तीर्थयात्रियों के लिए चुनौती बना रहा। बावजूद इसके श्रद्धालुओं की आस्था नहीं डगमगाई चारधाम यात्रा मार्ग में बारिश और बर्फ़बारी के बावजूद भी यात्रा सुचारू रही। अभी चारधाम यात्रा में आने वाले श्रद्धालुओं का आंकड़ा और बढ़ने की उम्मीद है।

Advertisement