हल्द्वानी-अब्दुल मालिक दिल्ली से गिरफ्तार, हिंसा का था मास्टर माइंड

खबर शेयर करें -

हल्द्वानी: उत्तराखंड मेंहल्द्वानी हिंसा का मास्टरमाइंड अब्दुल मलिक और उसका बेटा पुलिस के हाथ आ गये हैं। इसके अलावा पुलिस ने सपा नेता के भाई को भी हल्द्वानी हिंसा के आरोप में गिरफ्तार किया है। हल्द्वानी हिंसा मामले में पुलिस ने अभीतक तीन मुकदमे दर्ज किए हैं। वही 5 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। इनमें 19 नामजद समेत कई लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है।हल्द्वानी के बनभूलपुरा में हुई हिंसा मामले में कोतवाली पुलिस ने बड़ी कार्रवाई करते हुए जिसान परवेस, जावेद सिद्दकी, महबूब आलम और अरसद अयूब को गिरफ्तार किया है। ये चारों वहीं हैं, जिन्हें इस मामले में पुलिस ने हिरासत में लिया था। अब चारों से पूछताछ के लिए इन्हें कोतवाली थाने लाया गया है। अभी इनसे थाने के अंदर पूछताछ चल रही है। हल्द्वानी नगर आयुक्त पंकज उपाध्याय ने बताया कि बनभूलपुरा में उपद्रवी ने जिम से आते वक्त अजय कुमार नाम के व्यक्ति को गोली मार दी थी, जिसका उपचार साईं अस्पताल में चल रहा था। उनका सफलतापूर्वक ऑपरेशन संपन्न हो गया है। उनको बेहतर इलाज के लिए एम्स ऋषिकेश रेफर किया गया है। प्रशासन परिजनों को संपूर्ण सहयोग प्रदान कर रहा है।उत्तराखंड के नैनीताल जिले के हल्द्वानी में वनभूलपुरा क्षेत्र में अवैध मदरसा और मस्जिद को हटाने को लेकर उपद्रवियों द्वारा हिंसा की गई थी। वहीं उपद्रवियों की हिंसा की आग में झुलसे हल्द्वानी से कर्फ्यू हटाया गया। घटना वाले क्षेत्र बनभूलपुरा में यह कर्फ्यू अग्रिम आदेशों तक जारी रहेगा। वहीं मामले की मजिस्ट्रियल जांच के आदेश भी दे दिए गए हैं। उपाध्याय ने बताया कि इसके अलावा भी नगर निगम के एक कार्मिक इस घटना में घायल हुए हैं। उनका उपचार कृष्णा अस्पताल में चल रहा है।नैनीताल जिले के एएससपी पहलाद राय मीणा ने बताया कि हमारे द्वारा तीन एफआईआर दर्ज की गई है, जिसमें पांच लोगों को अभी तक गिरफ्तार किया गया है। उन्होंने कहा कि अन्य लोगों की गिरफ्तारी को लेकर भी पुलिस टीम में लगी हुई है। जल्द ही अन्य अभियुक्तों को भी गिरफ्तार कर लिया जाएगा।एसएसपी ने बताया कि मुख्य अभियुक्त अब्दुल मलिक को गिरफ्तारी कर लिया गया है। अवैध निर्माण का कार्य अब्दुल मलिक व उसके बेटे के द्वारा ही किया गया था। अवैध अतिक्रमण हटाने के दौरान सबसे ज्यादा विरोध भी अब्दुल मलिक के द्वारा ही किया गया था।सीसीटीवी फुटेज का और जितनी भी वीडियो हमारे पास शेयर हुई है। उसके आधार पर हम लोगों को चिन्हित कर रहे हैं जैसे-जैसे एविडेंस हम कलेक्ट करेंगे। इस तरीके से गिरफ्तारियां भी होती जाएगीएसएसपी ने बताया कि वहीं अभी मौके पर पैरामिलिट्री की 10 कंपनियां तैनात हैं। पीएसी की 5 कंपनियां भी यहां सुरक्षा व्यवस्था संभाल रही हैं। इसके साथ ही कुमाऊं मंडल की सभी चौकियों और थानों की पुलिस भी हल्द्वानी में तैनात है

Advertisement
यह भी पढ़ें -  उत्तराखंड में नई आबकारी नीति को सरकार ने मंजूरी दी,सस्ती हुई शराब