केदारनाथ धाम : बढ़ गया केदारनाथ मंदिर गर्भगृह से ‘सोना गायब’ होने का विवाद, जांच की मांग

खबर शेयर करें -

केदारनाथ गर्भगृह में सोने की प्लेट की जांच की मांग ने फिर तूल पकड़ लिया है। उत्तराखंड चार धाम तीर्थ पुरोहित महापंचायत ने सरकार से उच्च न्यायालय के सिटिंग जज के नेतृत्व में कमेटी गठित कर निष्पक्ष जांच कराने की मांग की है। साथ ही उन्होंने चेतावनी दी है कि मांगों पर तत्काल कार्रवाई न होने की स्थिति में आंदोलन शुरू किया जाएगा।

गुरुवार को तिलक रोड स्थित तुलसी प्रतिष्ठान में उत्तराखंड चार धाम तीर्थ पुरोहित महापंचायत के अध्यक्ष सुरेश सेमवाल ने पत्रकारों से वार्ता के दौरान आरोप लगाए कि केदारनाथ गर्भगृह में सोने की प्लेट की निष्पक्ष जांच नहीं की जा रही है। बदरी-केदार मंदिर समिति की कार्यशैली पर पूर्व में सवाल उठ चुके हैं। गर्भगृह का मामला सामने आने के बाद से धार्मिक भावनाएं आहत हुई हैं।

यह भी पढ़ें -  बेटी की लव मैरिज से खफा रहे पिता और भाई, गला रेत कर दी मौत

उच्च न्यायालय के सिटिंग जज की निगरानी में हो जांच
अध्यक्ष सुरेश सेमवाल ने कहा कि मामले की निष्पक्ष जांच उच्च न्यायालय के सिटिंग जज की निगरानी में की जानी चाहिए। गठित कमेटी में तीर्थ पुरोहितों को भी शामिल किया जाना चाहिए।

तत्काल कार्रवाई की मांग
बद्रीश पंडा पंचायत के अध्यक्ष प्रवीन ध्यानी ने बताया कि मास्टर प्लान के अंतर्गत बद्रीनाथ में निर्माण कार्य चल रहा है। कुबेर गली में निर्माण कार्य समय पर पूरा नहीं किया गया तो बड़ी समस्या होगी। उन्होंने आरोप लगाए कि बद्रीनाथ में सरकार ने गैर हिंदू व्यक्ति एवं महिला को साधना की अनुमति दी है, जो परंपरा के विरुद्ध है। इसके अलावा केदारनाथ मंदिर की सुरक्षा के लिए आईटीबीपी लगाई गई है। कपाट बंद होने के बाद भी धाम की तस्वीर सार्वजनिक की जा रही है। उन्होंने चेतावनी दी कि मांगों पर तत्काल कार्रवाई न करने पर आंदोलन किया जाएगा।

यह भी पढ़ें -  कोरोना को लेकर स्वास्थ्य विभाग ने जारी की एसओपी , पढ़िए निर्देश

ये लोग रहे शामिल
इस मौके पर महापंचायत के उपाध्यक्ष आचार्य संतोष त्रिवेदी, यमुनोत्री तीर्थ पुरोहित महासभा के अध्यक्ष पुरुषोत्तम उनियाल, गंगोत्री तीर्थ पुरोहित महासभा के अध्यक्ष संजीव सेमवाल, व्यापार सभा केदारनाथ के अध्यक्ष चंडी प्रसाद तिवारी, ब्रह्म कपाल तीर्थ पुरोहित पंचायत समिति के अध्यक्ष उमेश सती, प्रभारी रजनीकांत सेमवाल, पंकज शुक्ला, प्रशांत डिमरी, डा. बृजेश सती, अनिरुद्ध उनियाल आदि उपस्थित रहे।

यह भी पढ़ें -  भारत की आजादी की 75वीं वर्षगांठ को अमृत महोत्सव के रूप में भारत सरकार एवं राज्य सरकार के संयुक्त तत्वाधान में विभिन्न कार्यक्रम आयोजित

27 नवंबर से शुरू होगी चारधाम
शीतकालीन तीर्थ यात्रा ज्योतिष पीठ के स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद सरस्वती महाराज के नेतृत्व में चार धाम शीतकालीन तीर्थ यात्रा यमुनोत्री के खरसाली से शुरू की जाएगी। 27 नवंबर से शुरू होने वाली यात्रा के लिए तीर्थ पुरोहितों ने तैयारियां पूरी कर ली हैं।

स्वाभिमान महारैली को तीर्थ पुरोहित देंगे समर्थन
24 नवंबर को होने वाली मूल निवास स्वाभिमान महारैली को तीर्थ पुरोहित समर्थन देंगे। इसको लेकर तीर्थ पुरोहितों के विभिन्न संगठन एकजुट हो रहे हैं। उत्तराखंड चार धाम तीर्थ पुरोहित महापंचायत के बैनर तले विभिन्न संगठन इसे समर्थन देंगे।

Advertisement