लोकसभा चुनाव: सुनीता केजरीवाल के मैदान में उतरने से जगी AAP प्रत्याशियों की आस, बनाई ये रणनीति

खबर शेयर करें -


नई दिल्ली: लोकसभा चुनाव प्रचार के लिए मैदान में उतरने पर सुनीता केजरीवाल को मिल रहे जनसमर्थन से आप प्रत्याशियों की आस जगी है। उनके रोड शो में खासकर महिलाओं में उत्साह देखा जा रहा है। जिसके बाद से आप के चारों प्रत्याशी रोड शो के साथ ही उनकी जनसभाओं की भी मांग कर रहे हैं।

सुनीता केजरीवाल के साथ बैठकें कर रहे AAP प्रत्याशी
मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के जेल में होने से उनकी पत्नी सुनीता केजरीवाल से ही आप प्रत्याशियों को उम्मीद है। केजरीवाल की अनुपस्थिति में वह पार्टी के मुखिया की तरह जिम्मेदारी उठा रही हैं। पार्टी सूत्रों की मानें तो लोस चुनाव प्रचार को लेकर आप नेता लगातार सुनीता केजरीवाल के साथ बैठकें कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें -  यहां साइकिल सवार एक अधेड़ को अज्ञात वाहन ने टक्कर मारी

इन बैठकों में इस बात का तोड़ निकालने की कोशिश हैं कि जो वोटर विस चुनाव में आप को वोट डालते हैं, वे लोस चुनाव में क्यों नहीं दे रहे हैं। यहां तक कि 2019 के लोस चुनाव में 2014 की अपेक्षा आप का मत प्रतिशत ही घट गया था, जबकि दिल्ली में आप की पूर्ण बहुमत वाली सरकार थी।

यह भी पढ़ें -  1455 पदो को लेकर जल्द खुलेगा पोर्टल

आप का मत प्रतिशत 18 के करीब रहा था। इससे पहले 2014 में आप का मत प्रतिशत 32 के करीब रहा था। रणनीति के तहत आप ने सीएम की गिरफ्तारी पर जनता से सहानुभूति के नाम पर वोट लेने की योजना तैयार की है।

21 मार्च को हुई थी दिल्ली सीएम की गिरफ्तारी
सभी विधायक इस बार अपनी पूरी ताकत इस बात में लगा रहे हैं कि कैसे जनता का मन बदला जा सके। यहां सच्चाई यह भी है कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की 21 मार्च को हुई गिरफ्तारी के बाद से पूरी पार्टी का मनोबल गिरा हुआ था, लेकिन जिस तरह से सुनीता केजरीवाल प्रचार के लिए उतरी हैं और समर्थन मिल रहा है, उससे आप प्रत्याशी उत्साहित हैं

Advertisement